कलक्ट्रेट में तोडफ़ोड़ पर 250 वकीलों के खिलाफ केस दर्ज

  • कलक्ट्रेट में तोडफ़ोड़ पर 250 वकीलों के खिलाफ केस दर्ज
You Are HereNational
Wednesday, November 27, 2013-1:50 PM

मेरठ: मुख्यमंत्री से मुलाकात न कराने पर जिलाधिकारी कार्यालय में तोडफ़ोड़ करने वाले दो सौ से ज्यादा अज्ञात वकीलों के खिलाफ गंभीर धाराओं में दो मुकदमें दर्ज किए गए हैं। सिविल लाइन थाने में दर्ज इन मुकदमों को लेकर वकीलों में जिला प्रशासन के खिलाफ गहरी नाराजगी  है।

मेरठ बार एसोसिएशन के अध्यक्ष उदय वीर सिंह राणा ने आज भाषा से बातचीत में कहा कि वकील घटना के संबंध में प्रशासनिक अधिकारियों से मिल कर पहले ही अफसोस जता चुके हैं और उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नही करने का आश्वासन उनसे मिला है।  ऐसे में लगता है कि मुकदमें प्रशासन से हुई वार्ता से पहले दर्ज किये गये होंगे। वहीं मेरठ बार एसोसिएशन के मंत्री मुकेश वालिया ने इतना ही कहा कि इस बारे में प्रशासन से बात की जाएगी,जिसके बाद ही अगला कोई कदम उठाया जाएगा।

उधर , थाना सिविल लाइन इन्सपेक्टर अजय अग्रवाल ने आज सुबह वकीलों पर दर्ज मुकदमों की पुष्टि करते हुए बताया कि घटना में शामिल वकीलों की शिनाख्त के लिए कलक्ट्रेट की फुटेज की मदद ली जाएगी। उन्होंने कहा कि घटना में शामिल वकीलों की गिरफ्तारी के साथ ही वह सब कुछ किया जाएगा जो जरुरी होगा। रविवार को मेरठ आए मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से हाईकोर्ट बेंच की मांग को लेकर पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ समेत 14 जिलों के वकीलों के प्रतिनिधिमंडल को मिलने नही दिया गया था। इससे नाराज वकीलों ने सोमवार को जिलाधिकारी कार्यालय में कथित रुप से तोडफ़ोड़ की थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You