'राजनीतिक आधार पर पंचायत को नहीं किया जाएगा प्रताडि़त'

  • 'राजनीतिक आधार पर पंचायत को नहीं किया जाएगा प्रताडि़त'
You Are HereHimachal Pradesh
Wednesday, November 27, 2013-12:33 PM

जयसिंहपुर: पत्र सूचना कार्यालय शिमला द्वारा जन सूचना अभियान के अंतर्गत 19 वां भारत निर्माण कर्यक्रम आज से जयसिंहपुर के ऐतिहासिक चौगान में शुरू हुआ।

तीन दिवसीय इस कार्यक्रम का शुभारंभ प्रदेश सरकार में पंचायती राज मंत्री अनिल शर्मा द्वारा किया गया। इस अवसर पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए अनिल शर्मा ने कहा कि पंचायतों में ईमानदारी के साथ करने वाले पंचायत प्रतिनिधियों को चाहे वे किसी भी राजनीतिक विचारधारा से संबंध क्यों न रखते हों पूरा मान सम्मान दिया जा रहा है व किसी भी पंचायत प्रतिनिधि को राजनीतिक आधार पर प्रताडि़त नहीं होने दिया जाएगा।

उन्होंने पंचायत प्रतिनिधियों से ईमानदारी से जनहित में कार्य करने की अपील भी इस अवसर पर की। अनिल शर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार के सहयोग के चलते विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के लिए खुली धनराशि उपलब्ध करवाई जा रही है बशर्ते जमीनी स्तर पर ईमानदारी व लग्न के साथ कार्य करने केप्रयास होने चाहिएं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा प्रायोजित विभिन्न योजनाओं जैसा कि मनरेगा, खाद्य सुरक्षा बिल व आर.टी. आई जैसी महत्वाकांक्षी योजनाएं तैयार करके आम आदमी को लाभान्वित किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि अक्सर ऐसी शिकायतें सुनने को मिलती हैं कि बी.पी.एल. जैसी योजनाओं में पात्र परिवार छूट जाते हैं व अपात्र लोगों को इसका लाभ मिल जाता है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार की शिकायतों को समाप्त करने के लिए हर नागरिक को जागरूकता के साथ कार्य करना चाहिए जयसिंहपुर में सडक़ों की दशा खराब होने की स्वीकारोक्ती करते हुए उन्होंने कहा कि लोक निर्माण व सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य विभाग ठेकेदारी प्रथा में यकीन रखते हैं उन्होंने कहा कि इन विभागों को कार्यों में गुणवत्ता लाने के साथ ही रोजगार मुहैया करवाने के उद्देश्य से मनरेगा जैसी योजना को अपनाना चाहिए।

उन्होंने यह भी बताया कि सडक़ों का रखरखाव मनरेगा से करवाने व नालियां आदि बनाए जाने में 60-40 की रेशो बारे नियमों को लचीला किए जाने के प्रयास केंद्र सरकार के साथ किए जा रहे हैं । उन्होंने कहा कि जब भी नई योजनाएं बनाई जाती हैं तो उसमें खामियां होने की गुंजाइश बनी रहती है व जैसे जैसे धरातल पर योजनाएं लागू होती हैं तो खामियां उजागर होती हैं व मामूली परिवर्तन करके इनका सुधार भी किया जाता है।

अनिल शर्मा ने कहा कि मनरेगा में भी धांधलियां होने के मामले बहुतायात में प्रकाश में आए थे व इसमें सुधार करके अंकुश लगाने की कोशिश की गई है। उन्होंने पूर्व केन्द्रीय संचार मंत्री सुखराम को हिमाचल में संचार क्रांति का मसीहा करार देते हुए कहा कि जब उन्होंने प्रदेश में दूर संचार व्यवस्था के लिए प्रयास किए थे तो उनका मजाक भी उड़ाया गया था लेकिन उनके सपने के अनुसार ही आज हर व्यक्ति की जेब में फोन रहता है।

अगर पंडित जी ने उसस समय यह सपना नहीं देखा होता तो आज संचार के क्षेत्र में इतनी तरक्की नहीं हो सकी होती। अनिल शर्मा ने इस अवसर पर विकास खंड कार्यालय के निर्माण के लिए हर संभव सहायता प्रदान करने की घोषणा करते हुए कहा कि इसके निर्माण के लिए उपयुक्त स्थान का चयन किया जाए व जो भी खर्चा आएगा व विभाग द्वारा उपलब्ध करवाया जाएगा। यादविंद्र गोमा की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि यादविंद्र युवा हैं व अगर पूरे जज्बे व ईमानदारी के साथ कार्य करते रहते हैं तो भविष्य में ऊंचे राजनीतिक स्थान पर पहुंच सकते हैं।

उन्होंने बताया कि मंडी शहर के लिए 24 घंटे पेयजल व्यवस्था बनाए जाने की खातिर 84 करोड़ रुपए की लागत से योजना स्वीकृत करवाई गई है जिसमें आसपास के 11 गांव भी शामिल होंगे। इससे पूर्व मुख्यातिथि द्वारा इस अवसर पर विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गई प्रदर्शनियों का अवलोकन भी किया गया।

इस अवसर पर विधायक यादविंद्र गोमा, पूर्व विधायक मिलखी राम गोमा, पत्र सूचना कार्यालय शिमला के सहायक निदेशक तारा सिंह व वेद प्रकाश शर्मा सहित ब्लाक कांग्रेस अध्यक्ष जसवंत डढवाल, महासचिव संजय राणा व मङ्क्षहद्र राणा, जिला परिषद अध्यक्ष श्रेष्ठा कौंडल, पंचायत समिति अध्यक्षा पवना देवी, एस.डी.एम. डॉ. विक्रम महाजन विकास खंड अधिकारी एच.आर.जोशी सहित विभिन्न विभागों के उच्च अधिकारी कर्मचारी पंचायत पदाधिकारी व गण्यमान्य लोग उपस्थित थे ।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You