‘अखिलेश सरकार के बचकाने फैसलों से मुख्यमंत्री पद का इकबाल हो रहा है कम’

  • ‘अखिलेश सरकार के बचकाने फैसलों से मुख्यमंत्री पद का इकबाल हो रहा है कम’
You Are HereNational
Wednesday, November 27, 2013-2:58 PM

लखनऊ: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने कहा है कि किसानों की समस्याओं से लापरवाह अखिलेश सरकार बिचौलियों के हित में काम कर रही है और पूरे राज्य में धान क्रय केंद्रों पर सरकार की नीतियों के कारण सन्नाटा पसरा है। प्रदेश प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि अखिलेश सरकार के बचकाने फैसलों के कारण मुख्यमंत्री पद का इकबाल कम हो रहा है। चीनी मिलों को चलाने की तय समय सीमा 25 नवंबर बीतने के बाद मिलें नहीं चलीं तो नियमानुसार मिल मालिकों पर क्या कार्यवाही हुई। पाठक ने कहा कि गन्ना किसानों को लेकर सरकारी नीतियों के कारण मुख्यमंत्री के इकबाल पर सवालिया निशान खड़े हो गए हैं।

पाठक ने कहा कि मुख्यमंत्री ने 25 नवंबर तक गन्ना मिलें चलाने के लिए अंतिम तिथि तय की थी। मिलें क्यों नहीं चलीं, मुख्यमंत्री के निर्देशों की क्यों अवहेलना हुई। यदि दो दर्जन मिल मालिक 32 लाख किसान परिवारों पर भारी हैं तो सरकार ने यह क्यों नहीं कहा कि मिल मालिकों से पूछकर तय होगा कि मिलें कब चलेंगी। उन्होंने कहा कि 123 चीनी मिलों में से 101 चीनी मिलें निजी क्षेत्र की है। निजी क्षेत्र की चीनी मिलों में मात्र 67 चीनीं मिल मालिकों ने गन्ना मूल्य देने में असमर्थता व्यक्त करते हुए मिलें न चलाने की बात कही। जिन अन्य मिल मालिकों ने यह नहीं कहा उन्होंने मिलें क्यों नहीं चलाईं। पाठक ने कहा कि सरकार के घटते इकबाल और किसानों के प्रति बेरुखी के कारण इस पूरे मामले को गंभीरता से लिया ही नहीं गया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You