केजरीवाल ने कहा, नहीं किया आचार संहिता का उल्लंघन

  • केजरीवाल ने कहा, नहीं किया आचार संहिता का उल्लंघन
You Are HereNational
Wednesday, November 27, 2013-3:37 PM

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने धर्म के आधार पर वोट मांगने के मामले में निर्वाचन आयोग के कारण बताओ नोटिस का जवाब आज उसे भेज दिया। आप के सूत्रों ने यहां बताया कि केजरीवाल ने 37 पृष्ठों के अपने जवाब में आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के आरोपों का खंडन किया है। आयोग ने अपने नोटिस में केजरीवाल से  25 नवंबर को सुबह 11 बजे तक यह स्पष्ट करने के लिए कहा था कि क्यों नहीं उनके खिलाफ आदर्श चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के मामले में कार्रवाई की जाए। मगर आयोग ने बाद में (आप) के राष्ट्रीय संयोजक के अनुरोध पर इस समय सीमा को दो दिनों के लिए बढ़ा दिया था।

भारतीय जनता पार्टी की दिल्ली इकाई के प्रवक्ता हरीश खुराना ने आयोग से शिकायत की थी कि केजरीवाल ने एक पर्चे में भाजपा को साम्प्रदायिक बताया है। उन्होंने आरोप लगाया था कि इस पर्चे में आम आदमी पार्टी ने मुसलमानों से धर्म के नाम पर वोट मांगने कीकोशिश की है। आयोग ने केजरीवाल को 20 नवंबर को भेजे नोटिस में आदर्श चुनाव आचार संहिता के पैरा एक सबपैरा तीन का हवाला देते हुए कहा था कि कोई भी पार्टी या उम्मीदवार जाति और धर्म के नाम पर वोट नहीं मांग सकता। इसके तहत चुनाव प्रचार के लिए मंदिरमस्जिद, गिरजाघर और अन्य धर्मस्थलों के इस्तेमाल की भी इजाजत नहीं है।

नोटिस में कहा गया था कि आयोग ने पर्चे पर गौर करने के बाद केजरीवाल को पहली नजर में आदर्श चुनाव आचार संहिता का दोषीपाया है। अगर वह तय समय सीमा के अंदर नोटिस का जवाब नहीं देते तो माना जाएगा कि उनके पास अपनी सफाई में कहने को कुछ भी नहीं है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You