पवित्रा के पति का बयान दर्ज करे पुलिस : सुनीता

  • पवित्रा के पति का बयान दर्ज करे पुलिस : सुनीता
You Are HereNational
Wednesday, November 27, 2013-11:06 PM

नई दिल्ली :डीयू की लैब असिस्टेंट पवित्रा भारद्वाज आत्महत्या मामले में उसके पति ने दिल्ली उच्च न्यायालय में एक याचिका दायर कर आरोप लगाया है कि पुलिस अपना काम ठीक से नहीं कर रही है।

न्यायमूर्ति सुनीता गुप्ता ने  संबंधित थाने के एस.एच.ओ को निर्देश दिया है कि वह मृतका के पति का बयान दर्ज करें और विवि से सबूत एकत्रित करें। पवित्रा भीम राव अंबेडकर कालेज में जियोग्राफी डिपार्टमेंट में लैब असिस्टेंट थी। उसे उसके दो सहकर्मियों ने प्रताडि़त किया और उसका यौन शोषण किया। जिसके चलते उसने आत्महत्या कर ली।

उच्च न्यायालय में दायर याचिका में कहा गया है कि कालेज के प्रिंसीपल जी.के.अरोड़ा ने उसकी पत्नी को प्रताडि़त किया और उसका यौन शोषण भी किया। परंतु सैक्सुअल हरेसमेंट कमेटी ने उसकी पत्नी की शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की।

पवित्रा का पति धमेंद्र दिल्ली पुलिस में कांस्टेबल के तौर पर तैनात है। उसने पूर्व में कहा था कि उसकी पत्नी ने सबके समक्ष अपनी शिकायत रखी थी परंतु विवि प्रशासन ने उसकी शिकायत पर कोई कदम नहीं उठाया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You