हारे प्रत्याशी क्या चखेंगे जीत का स्वाद?

  • हारे प्रत्याशी क्या चखेंगे जीत का स्वाद?
You Are HereNational
Thursday, November 28, 2013-12:22 AM

नई दिल्ली (सतेन्द्र त्रिपाठी): चुनाव में एक या अधिक बार हार का मुंह देख चुके एक दर्जन से अधिक प्रत्याशी क्या इस बार जीत का स्वाद चख पाएंगे? अगर इस बार वो नहीं जीते तो उनका राजनीतिक करियर लगभग खत्म हो जाएगा।

इस कारण इन प्रत्याशियों ने जीतने के लिए जी-जान एक कर रखा है। मैदान में ताल ठोंक रहे हारे हुए  प्रत्याशियों में भाजपा प्रत्याशियों की संख्या ज्यादा है। भाजपा ने एक दर्जन से ज्यादा हारे हुए नेताओं पर दांव लगाया गया है। वहीं कांग्रेस ने करीब आधा दर्जन नेताओं को दोबारा चुनाव में उतारा है।

भाजपा ने यमुनापार में जिन हारे हुए नेताओं को चुनाव में फिर से उतारा है, उनमें सबसे पहला नाम है पटपडग़ंज से नकुल भारद्वाज का। वह पिछले चुनाव 6 सौ से अधिक वोटों से हार गए थे। इस बार उनकी स्थिति बेहतर बताई जा रही है। वह हारने के बाद भी 5 साल इलाके में सक्रिय रहे।

दूसरा नंबर विश्वास नगर से ओ.पी. शर्मा का है। उनके समर्थक इस बार कड़ी टक्कर का दावा कर रहे हैं। गोकलपुरी से रंजीत सिंह से फिर चुनाव मैदान में है। पिछली बार यह सीट बसपा के खाते में गई थी। कोंडली से दुष्यंत गौतम भी हार का दर्द जानते हैं।

 त्रिनगर से भाजपा के नंद किशोर गर्ग एक बार व मादीपुर से कैलाश सांकला तो 3 बार हार चुके हंै। कैलाश की चौथी हार तो उन्हें राजनीति में खत्म ही कर देगी। राजेन्द्र नगर से आर.पी. सिंह भी एक चुनाव में हार चुके हैं। विकासपुरी से किशन गहलौत एक बार व बल्लीमारान से मोतीलाल सोढ़ी 2 बार हार व 2 बार जीत का मजा ले चुके हैं।

छतरपुर से ब्रह्म सिंह तंवर किस्मत आजमां रहे है। मालवीय नगर से आरती मेहरा व उत्तम नगर से पवन शर्मा व नई दिल्ली से बिजेन्द्र गुप्ता भी एक चुनाव में हार का मुंह देख चुके हैं। कांग्रेस में देखें तो किराड़ी विधानसभा चुनाव में उतरे प्रदेश युवक कांग्रेस के अध्यक्ष अमित मलिक एक बार हार चुके हैं।

बृजवासन से विजय लोचव, करोलबाग से मदन खोरवाल व शकूरपुर से एस.सी. वत्स भी पहले चुनाव में हार चुके हैं। घौंडा से भीष्म शर्मा जीतने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। भाजपा की गुटबाजी का फायदा उन्हें मिल सकता है। उनके सामने 4 बार के भाजपा विधायक साहब सिंह चौहान मैदान में हंै।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You