जम्मू में मोदी की गिरफतारी की गूंज, अब्दुल्ला से ‘इतिहास दोहराने’ की मांग

  • जम्मू में मोदी की गिरफतारी की गूंज, अब्दुल्ला से ‘इतिहास दोहराने’ की मांग
You Are HereNational
Thursday, November 28, 2013-10:24 AM

श्रीनगर : कश्मीर घाटी के एक अलगाववादी नेता ने बुधवार को मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला से ‘इतिहास दोहराने’ और प्रधानमंत्री पद के लिए भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) से उम्मीदवार नरेन्द्र मोदी जिनकी राज्य में रैली निर्धारित है को गिरफतार करने का आग्रह किया। भाजपा के मोदी द्वारा दिसम्बर के पहले सप्ताह में शीतकालीन राजधानी जम्मू में रैली का आयोजन किया जा रहा है। अलगाववादी नेता और पीपुल्स पॉलोटिकल पार्टी (पी.पी.पी) के चेयरमैन  हिलाल अहमद वार ने मुख्यमंत्री से उनके दादा और पूर्व मुख्यमंत्री शेख अब्दुल्ला के नक्शेकदम पर चलने के लिए कहा है जिन्होने वर्ष 1953 में भाजपा के दिग्गज नेता डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी को गिरफतार किया था।

वार ने कहा कि डॉ मुखर्जी ने कश्मीर घाटी को क्षेत्र से अलग करने के क्रम में जम्मू में स्थिति को भडकाने और सांप्रदायिक आंदोलन शुरु करने की योजना बनाई थी। उन्होने कहा कि मोदी को भी राजनीतिक साख से ज्यादा उनके हिन्दुत्व (दक्षिणपंथी) कट्टरता, पागल राष्ट्रवाद और युद्ध शुरु करने वाली बयानबाजी के लिए जाना जाता है। अलगाववादी नेता ने कहा कि दिसम्बर में भाजपा की रैली का मकसद डॉ मुखर्जी जो मोदी के संरक्षक हैं के अधूरे कार्य को पूरा करना था। वार ने कहा कि उमर अब्दुल्ला अपनी शक्तियों का प्रयोग कर सकते हैं और नरेन्द्र मोदी को वही उपचार दे सकते है जो डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी को दिया गया था। साथ ही मुख्यमंत्री हिन्दु उग्रपंथियों को एक मजबूत संदेश दे सकते हैं कि यह जम्मू-कश्मीर है बल्कि भारत नही। उन्होने कहा कि मोदी की गिरफतारी सत्तारुढ़ नेशनल कांफ्रैंस के लिए लाभदायक होगी क्योंकि इससे उन्हे वही स्थिति मिलेगी जो उनके पास 1953 में थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You