जीता पानी पे, हारेंगे भी क्या पानी पे!

  • जीता पानी पे, हारेंगे भी क्या पानी पे!
You Are HereNational
Thursday, November 28, 2013-11:25 PM

नई दिल्ली(धनंजय कुमार): महरौली विधानसभा में चुनाव का मुख्य मुद्दा पानी की समस्या इस बार भी हावी है। हालांकि यहां से वर्तमान विधायक योगानंद शास्त्री ने भी इसी मुद्दे पर अपनी जीत दर्ज की थी।

यहां के रजोकरी गांव में जुलाई महीने में दिल्ली जलबोर्ड का दूषित पानी पीने से हुए एक व्यक्ति की मौत और दर्जनों लोगों के बीमार होने की घटना से स्थिति और जटिल हो गई है।

दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री साहिब सिंह वर्मा के बेटे व भाजपा प्रत्याशी प्रवेश वर्मा इस मुद्दे को काफी मजबूती से उठा रहे हैं। वहीं आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी नरेंद्र सिंह सेजवाल दोनों प्रत्याशियों पर भले ही हमला नहीं कर पा रहे हों, लेकिन दोनों ही राजनीतिक पार्टियों पर जमकर हल्ला बोल रहे है।

इस विधानसभा क्षेत्र में चुनावी रंग तेजी से बदल रहा है। सभी राजनीतिक पार्टियों के प्रत्याशी अपनी-अपनी जीत का दावा कर रहे हैं, लेकिन यहां की जनता क्या मन बनाकर बैठी है यह तो चुनाव परिणाम ही बताएगा। विधानसभा अध्यक्ष योगानंद शास्त्री अपने लंबे राजनीतिक अनुभव का सहारा लेकर जनता को रिझाने की कोशिश कर रहे हैं, वहीं भाजपा प्रत्याशी प्रवेश वर्मा अपनी युवा सोच को जनता के सामने पेश कर रहे हैं।

क्षेत्र में वैसे तो अनेक समस्याएं हैं जिसे पिछले पांच वर्षों में पूरी तरह से खत्म नहीं किया गया, लेकिन अगले पांच वर्षों में दूर करने की दुहार्ई जरूर दी जा रही है। यहां के प्रमुख मुद्दों में लोगों को बेहतर चिकित्सा सुविधा मुहैया कराना तथा बेहतर शिक्षा के लिए नए स्कूल खोलना शामिल है।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You