तेजपाल ने कहा, मेरा अदालत में जाना जरूरी नहीं

  • तेजपाल ने कहा, मेरा अदालत में जाना जरूरी नहीं
You Are HereNational
Saturday, November 30, 2013-10:20 AM

पणजी : रेप केस में तरुण तेजपाल आज गिरफ्तार हो सकते हैं। पणजी कोर्ट से मिली राहत आज सुबह 10 बजे खत्म हो गई। तेजपाल आज सुबह 9.05 बजे होटल से क्राइम ब्रांच पहुंचे और वहां हाजिरी देकर वापस होटल लौट आए। तेजपाल अदालत नहीं गए। तेजपाल ने कहा कि मेंरा अदालत में जाना जरूरी नहीं है। मैं पुलिस को पूरा सहयोग कर रहा हूं। उधर, क्राइम ब्रांच की टीम कोर्ट पहुंच गई है।

कल कोर्ट में तेजपाल के वकीलों ने लंबी बहस की। इस दौरान वकीलों को जज से फटकार भी लगी। जज ने वकीलों को हिदायत दी कि पीड़िता को आरोपी की तरह पेश न किया जाए। कल तेजपाल दिल्ली से गोवा पहुंचे। फ्लाइट में उनके साथ गोवा पुलिस भी थी। कोर्ट में बहस के बाद पुलिस ने तेजपाल से लंबी पूछताछ की और ये पूछताछ रात डेढ़ बजे तक चली। फिलहाल तेजपाल को आज सुबह दस बजे तक की अंतरिम राहत मिली है। कोर्ट में सुबह उनकी जमानत पर दोबारा सुनवाई होगी।

एयरपोर्ट से तेजपाल पुलिस और सीआईएसएफ की निगरानी में निकले। तेजपाल अपने कुछ परिजनों के साथ थे। बीजेपी कार्यकर्ताओं ने इस मौके पर तेजपाल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया और उन्हें काले झंडे दिखाए। तरुण तेजपाल के साथ उनकी बहन, पत्नी, बेटी और भाई भी थे।

तरुण तेजपाल ने एक निजी न्यूज चैनल से कहा, इस मुद्दे को तूल दिया गया है। चीजें वैसी नहीं हैं जैसी दिखाई जा रही है। मैं जांच में सहयोग करने के लिए ही गोवा जा रहा हूं। लेकिन गोवा पुलिस ने मुझे कभी भी सही जानकारी नहीं दी। उन्होंने मुझे और मोहलत न देने की बात भी नही बताई।

इससे पहले तेजपाल को यहां की एक सत्र अदालत ने अपराह्न 2 बज कर 30 मिनट तक के लिए अंतरिम जमानत दे दी जिसके बाद वह अपनी अंतिम व्यवस्था देगी। सत्र न्यायाधीश अनुजा प्रभुदेसाई ने अपने समक्ष तेजपाल के वकील द्वारा पेश किए गए जमानत संबंधी आवेदन पर तहलका के संपादक को गिरफ्तारी से अंतरिम सुरक्षा दी। तेजपाल के वकील ने उनकी जमानत के लिए अदालत से गुहार लगाई है।

इससे पहले गोवा और दिल्ली पुलिस के एक संयुक्त दल ने आज सुबह दक्षिण दिल्ली के जंगपुरा स्थित उनके आवास पर छापा मारा लेकिन तेजपाल घर पर नहीं मिले और दल को खाली हाथ लौटना पड़ा। बाद में तेजपाल को पकडऩे के लिए उनके संबंधियों के आवासों सहित विभिन्न अन्य जगहों की तलाशी ली गई जहां उनके मिलने की संभावना थी। तेजपाल की वकील गीता लूथरा ने बाद में संवाददाताओं को बताया कि तहलका के संपादक को अपराह्न 2 बज कर 30 मिनट तक अंतरिम जमानत मिल गई है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You