आरोपों से सदमा लगा है : SC के पूर्व न्यायाधीश गांगुली

  • आरोपों से सदमा लगा है : SC के पूर्व न्यायाधीश गांगुली
You Are HereNational
Friday, November 29, 2013-6:16 PM

नई दिल्ली: महिला इंटर्न के यौन शोषण के आरोपों से इंकार करते हुए उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश ए के गांगुली ने आज कहा कि उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों से उन्हें सदमा लगा है। न्यायमूर्ति गांगुली ने प्रेसट्रस्ट से कहा, ‘‘मैं इन सबसे इंकार करता हूं। मैंने समिति से भी कहा है कि इंटर्न द्वारा लगाए गए सभी आरोप गलत हैं। मैं नहीं जानता कि कैसे ऐसे आरोप उनके खिलाफ लगाए गए हैं।’’

न्यायमूर्ति गांगुली शीर्ष अदालत के एक अधिकृत प्रेस बयान पर प्रतिक्रिया व्यक्त कर रहे थे। इस अधिकृत बयान में कहा गया था कि इंटर्न के आरोपों की जांच के लिये गठित तीन न्यायाधीशों की समिति के समक्ष न्यायमूर्ति गांगुली का बयान दर्ज किया गया था। समिति ने अपनी रिपोर्ट प्रधान न्यायाधीश को सौंप दी है। शीर्ष अदालत के अधिकृत बयान में कहा गया है कि न्यायमूर्ति आर एम लोढा की अध्यक्षता वाली तीन न्यायाधीशों की समिति ने न्यायमूर्ति गांगुली का बयान दर्ज किया था। समिति ने अपनी रिपोर्ट कल प्रधान न्यायाधीश पी सदाशिवम को सौंपी।

न्यायमूर्ति गांगुली ने टेलीविजन चैनलों से कहा, ‘‘मैं पूरी तरह इन आरोपों से इंकार करता हूं। मैं परिस्थितियों का शिकार हूं।’’ इस महीने के शुरू में कानूनी पोर्टल से इंटर्न की बातचीत के बाद कथित घटना सार्वजनिक होने के बारे में पूछे गये एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘‘मैं किसी भी बात के लिये शर्मिंदा नहीं हूं।’’ उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ आरोप पूरी तरह गलत हैं। इस लड़की ने यौन शोषण का कोई मसला उनके समक्ष नहीं उठाया था। उन्होंने कहा कि उन्होंने इस लड़की को कोई शारीरिक क्षति नहीं पहुंचाई।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You