यौन शोषण के आरोप से सदमा लगा है : ए. के. गांगुली

  • यौन शोषण के आरोप से सदमा लगा है : ए. के. गांगुली
You Are HereNational
Saturday, November 30, 2013-8:15 AM

नयी दिल्ली : महिला इंटर्न के यौन शोषण के आरोपों से इंकार करते हुये उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश ए. के . गांगुली ने आज कहा कि उनके खिलाफ लगाए गए आरोपों से उन्हें सदमा लगा है।
 
न्यायमूर्ति गांगुली ने प्रेसट्रस्ट से कहा, मैं इन सबसे इंकार करता हूं। मैंने समिति से भी कहा है कि इंटर्न द्वारा लगाये गये सभी आरोप गलत हैं। मैं नहीं जानता कि कैसे ऐसे आरोप उनके खिलाफ लगाये गये हैं।

न्यायमूर्ति गांगुली शीर्ष अदालत के एक बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इंटर्न के आरोपों की जांच के लिये गठित तीन न्यायाधीशों की समिति के समक्ष न्यायमूर्ति गांगुली का बयान दर्ज किया गया था। समिति ने अपनी रिपोर्ट प्रधान न्यायाधीश को सौंप दी है।

 न्यायमूर्ति आर.एम. लोढा की अध्यक्षता वाली तीन न्यायाधीशों की समिति ने न्यायमूर्ति गांगुली का बयान दर्ज किया था। समिति ने अपनी रिपोर्ट कल प्रधान न्यायाधीश पी. सदाशिवम को सौंपी। गांगुली ने टेलीविजन चैनलों से कहा, मैं पूरी तरह इन आरोपों से इंकार करता हूं। मैं परिस्थितियों का शिकार हूं।

उन्होंने कहा,मैं किसी भी बात के लिये शर्मिंदा नहीं हूं। आरोप पूरी तरह से गलत है। इस लड़की ने यौन शोषण का कोई मसला उनके समक्ष नहीं उठाया था। उन्होंने कहा कि लड़की को कोई शारीरिक क्षति नहीं पहुंचायी।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You