राजनीति गंदी नहीं, नैतिक मूल्यों के पतन के कारण वह हो रही है गंदी: दलाई लामा

  • राजनीति गंदी नहीं, नैतिक मूल्यों के पतन के कारण वह हो रही है गंदी: दलाई लामा
You Are HereNational
Saturday, November 30, 2013-1:44 PM

नई दिल्ली: भ्रष्टाचार को पूरी दुनिया के लिए ‘नया कैंसर’ करार देते हुए तिब्बत के आध्यात्मिक गुरु दलाई लामा ने आज कहा कि राजनीति गंदी नहीं है, बल्कि राजनीति में नैतिक मूल्यों के पतन के कारण वह गंदी हो रही है और सभी पेशों में यह स्थिति है। दलाई लामा ने कहा, ‘‘भ्रष्टाचार न केवल भारत, बल्कि पूरी दुनिया के समक्ष नये कैंसर के रूप में उभर कर सामने आया है। यह हमारे भीतर और हमारी शिक्षा व्यवस्था में नैतिक मूल्यों एवं सिद्धांतों की कमी और जागरूक ज्ञान के अभाव के कारण है। ’’  इंद्रप्रस्थ अपोलो अस्पताल के एक समारोह में उन्होंने कहा कि कुछ लोग राजनीति को गंदा मानते हैं लेकिन राजनीति गंदी नहीं है। राजनीति में नैतिक मूल्यों के पतन के कारण यह गंदी हो रही है।

उन्होंने कहा, ‘‘ यह स्थिति सभी पेशों में है। अगर नैतिक मूल्य का पतन हो जाए तब किसी पेश में गिरावट आती है।’’ तिब्बत के आध्यात्मिक गुरु ने कहा, ‘‘ समाज और व्यक्ति के उत्थान के लिए हमारी शिक्षा व्यवस्था में नैतिक मूल्यों और मानवतावादी दृष्टीकोण को समाहित किये जाने की जरुरत है। ’’ उन्होंने कहा कि शिक्षा का हमारे जीवन पर गहरा प्रभाव पड़ता है और आज हम अपने जीवन में भौतिक सुखों के बारे में ज्याद ध्यान दे रहे है। चारों ओर अर्थव्यवस्था और पैसे की बात हो रही है। दलाई लामा ने कहा कि भारत और दुनिया में करोड़ों की संख्या में गरीब हैं, ऐसे में इनके जीवन को बेहतर बनाने के लिए गंभीर पहल किये जाने की जरुरत है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You