गुजराल की पहली बरसी पर स्मारक बनाने की मांग

  • गुजराल की पहली बरसी पर स्मारक बनाने की मांग
You Are HereNational
Saturday, November 30, 2013-6:29 PM

नयी दिल्ली: पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल के बेटे नरेश अग्रवाल ने अपने पिता के अंत्येष्टि स्थल के विकास की मांग करते हुए एक अभियान शुरू कर दिया है ।

वहीं अकाली दल के सांसद नरेश गुजराल ने राज्यसभा में नेता विपक्ष अरूण जेटली का समर्थन किया है जिनकी पार्टी भाजपा और शिरोमणि अकाली दल के बीच गठबंधन है। जेटली ने प्रधानमंत्री को पत्र लिखकर इंद्र कुमार गुजराल की पहली बरसी तक उनका स्मारक बनाए जाने का आग्रह किया था।

जनता दल के नेता इंद्र कुमार गुजराल अप्रैल 1997 से लेकर मार्च 1998 तक करीब एक साल देश के प्रधानमंत्री रहे। वह बाहर से कांग्रेस के समर्थन वाली गठबंधन सरकार के मुखिया थे। पिछले साल 30 नवंबर को उनका निधन हुआ था। आज उनकी पहली बरसी है।

 नरेश गुजराल ने कहा कि वह कोई विवाद खड़ा नहीं करना चाहते क्योंकि उनके पिता एक गैर विवादास्पद व्यक्ति थे, लेकिन ‘‘सरकार विचित्र रूख’ अपना रही है। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने 26 नवंबर को जेटली को भेजे गए अपने जवाब में कहा कि मंत्रिमंडल के एक फैसले के बाद अगस्त 2000 से दिवंगत नेताओं के लिए अलग से समाधियां नहीं बनाई जा रही हैं ।

गुजराल ने हालांकि, इस जवाब पर कड़ी आपत्ति जताई और कहा कि यह ‘‘केवल गैर कांग्रेसी प्रधानमंत्रियों के मामले में ही’’ होता जान पड़ता है । सरकार के रूख से ऐसा प्रतीत होता है कि वह पहले स्थान पर बनाई गई समाधि को भी हटाना चाहती है । सरकार से जो जवाब आया है, वह विचित्र है ।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You