शाहरुख और सानिया मिर्जा की कौमी पहचान को भुनाना चाहती है सरकार

  • शाहरुख और सानिया मिर्जा की कौमी पहचान को भुनाना चाहती है सरकार
You Are HereNational
Monday, December 02, 2013-10:31 AM

नई दिल्ली: बॉलीवुड के किंग खान शाहरुख खान और टेनिस स्टार सानिया मिर्जा की कौमी पहचान को भी सरकार भुनाना चाहती है। सिर्फ शाहरुख और सानिया ही नहीं, बल्कि उसकी नजर अन्य क्षेत्रों में ऊंचा मुकाम हासिल करने वाले सितारों और जानी-मानी हस्तियों पर भी है। सरकार ऐसी आधा दर्जन से अधिक शख्सियतों को ब्रांड एंबेसडर के तौर पर अल्पसंख्यकों के बीच पेश करने जा रही है।

केंद्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय ऐसी जानी-मानी हस्तियों को अपना ब्रांड एंबेसडर बनाने की राह पर चल भी पड़ा है। मकसद, तालीम और तरक्की में पीछे रह गए अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों में वह जज्बा पैदा करना है ताकि वह भी उनसे प्रेरणा लेकर आगे बढ़ सकें। केंद्र ने इस नजरिए से अल्पसंख्यक समुदाय के कुछ ऐसे लोगों को चुना है, जो आज देश-दुनिया में अपनी खास पहचान रखते हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You