शिकारियों के साथ हवालात में बंद हैं तेजपाल

  • शिकारियों के साथ हवालात में बंद हैं तेजपाल
You Are HereNational
Monday, December 02, 2013-3:21 PM

पणजी: हवालात में पहली रात हत्या के दो आरोपियों के साथ काटने के बाद तहलका के संपादक तरुण तेजपाल ने दूसरी रात कछुओं और मेंढकों का शिकार करने के आरोप में बंद लोगों के साथ काटी। 50 वर्षीय यह पत्रकार छह दिन की पुलिस हिरासत में है और उसे पुर्तगाली काल की एक इमारत में बनी हवालात में रखा गया है।

एक सुरंग के जरिए इस हवालात के तीन प्रकोष्ठों तक पहुंचा जाता है। इनमें से दो प्रकोष्ठ पुरूषों के लिए हैं और एक महिलाओं के लिए। जिस प्रकोष्ठ में तेजपाल हैं, वह लगभग 8 फुट लंबा और 4 फुट चौड़ा है। 5 मीटर की उंचाई वाले इस प्रकोष्ठ में एक छोटी-सी दीवार के पीछे शौचालय की सुविधा है।

पुलिस के सूत्रों ने कहा, ‘‘नींद की कमी और शायद बहुत सी पूछताछ की वजह से तेजपाल थके हुए और परेशान दिख रहे थे। उनका चेहरा थोड़ा सूजा हुआ और आंखें लाल थीं।’’

सूत्रों ने कहा कि उनके परिवार के सदस्य आज सुबह अपराध शाखा के अधिकारियों के साथ यहां आए थे। ‘‘परिवार के सदस्यों ने उन्हें गोवा की पाव भाजी दी। इससे पहले उन्होंने पुलिस द्वारा कैदियों को दी जाने वाली चाय पी थी।’’

उन्होंने कहा, ‘‘अपराध शाखा द्वारा पूछताछ के बाद हवालात में लाए जाने पर तेजपाल ने साथ में बंद चार कैदियों के साथ बातचीत शुरू करने की कोशिश की थी। लेकिन कछुओं और मेंढ़कों के शिकार के चारों आरोपियों-डैमियन कोलेको, नातालो फर्नांडीज, लॉरेंस  कोलेको और सैंटन कोलेको ने उनकी बातों का जवाब नहीं दिया क्योंकि वे हिंदी नहीं समझते।’’

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You