‘मोदी की अनुच्छेद 370 पर टिप्पणी अस्वीकार्य’

  • ‘मोदी की अनुच्छेद 370 पर टिप्पणी अस्वीकार्य’
You Are HereNational
Monday, December 02, 2013-3:21 PM

श्रीनगर: माकपा नेता एम वाई तारिगामी ने अनुच्छेद 370 पर नरेंद्र मोदी की टिप्पणी को ‘अनुचित और अस्वीकार्य’ करार देते हुए आज कहा कि ‘अनुच्छेद के उन प्रावधानों को बहाल करने की जरूत है जिसका क्षरण हो गया’’ है। एएमएम के संयोजक तारिगामी ने यहां एक बयान में कहा, ‘अवामी मुताहिदा महज (एएमएम) का यह मानना है कि नरेंद्र मोदी की अनुच्छेद 370 रद्द करने की मांग वाली टिप्पणी अनुचित और अस्वीकार्य है।’ उन्होंने कहा, ‘हम मांग करते हैं कि अनुच्छेद का संविधान में मूल दर्जा वापस दिलाने के लिए उसके उन प्रावधानों को बहाल करने के वास्ते ठोस निर्णय किया जाए जिनका क्षरण हो गया है।’

माकपा के प्रदेश सचिव तारिगामी ने कहा कि कल जम्मू में मोदी का भाषण जम्मू कश्मीर को संविधान में प्रदत्त स्वायत्तशासी स्थिति के लिए संवैधानिक गारंटी को ‘पलटने को प्रेरित’ था। उन्होंने कहा, ‘अनुच्छेद 370 का और क्षरण नहीं होना चाहिए और उसे भारत के संविधान की स्थायी विशेषता माना जाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘हमारा यह विचार है कि संविधान के अनुच्छेद 370 को केंद्र और राज्य के बीच सेतु का काम करना चाहिए और उसके उन प्रावधानों को बिना कोई देरी किये बहाल किया जाना चाहिए, जिनका समय समय पर क्षरण हुआ है। तारिगामी ने कहा कि मोदी को हमेशा ही साम्प्रदायिक ध्रुवीकरण तेज करने के रूप में देखा गया है लेकिन कभी भी राज्य को क्षेत्र या साम्प्रदायिक आधार पर बांटने में सफल नहीं होंगे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You