पंचायत निभाएगी चुनाव में अहम भूमिका

  • पंचायत निभाएगी चुनाव में अहम भूमिका
You Are HereNcr
Monday, December 02, 2013-3:38 PM

नई दिल्ली (धनंजय कुमार): अधिकांश ग्रामीण मतदाताओं वाले बिजवासन विधानसभा क्षेत्र में जीत का सेहरा किसके सिर पर बंधेगा इसका अंदाजा चुनाव परिणाम आने से पहले लगाना मुश्किल है क्योंकि इस विधानसभा क्षेत्र में आने वाले 10 गांव की जनता और चुनाव से पहले वहां होने वाली पंचायत ही प्रतिनिधि के नाम पर अमूमन फैसला करते हैं।

दिलचस्प बात यह है कि इस बार भी दोनों ही प्रमुख पार्टियों ने अपने पुराने प्रत्याशियों पर ही दांव लगाया है। भाजपा ने वर्तमान विधायक सतप्रकाश राणा को, तो कांग्रेस ने अपने पूर्व प्रत्याशी विजय लोचव को खड़ा किया है। वर्ष 2008 के विधानसभा चुनाव में भी दोनों प्रत्याशी एक दूसरे के आमने-सामने थे, लेकिन जनता ने राणा को चुना था।

इस बार राणा जहां बीते पांच वर्षों में क्षेत्र में विकास कार्यों के साथ अपनी संपत्ति में 16 गुणा से भी ज्यादा की बढ़ोतरी कर खासे चर्चा में हैं और विजय लोचव इसे मुद्दा बना रहे हैं। लोचव इस क्षेत्र का पहले भी प्रतिनिधित्व कर चुके हैं। ऐसे में दोनों के बीच मुकाबला काफी कठिन होने की उम्मीद है। आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी कर्नल देवेंद्र सहरावत पूरी तैयारी से दोनों प्रत्याशियों को घेरने की कोशिश कर रहे हैं।

इस विधानसभा क्षेत्र में पीने के पानी की समस्या का आजतक समाधान नहीं हो सका है तो दिल्ली-गुडग़ांव रेल लाइन पर फ्लाईओवर बनाने के नाम पर कापसहेड़ा-नजफगढ़ रोड के दोनों ओर बसे करीब 500 घरों के टूटने के दर्द से यहां के निवासी आज तक कराह रहे हैं। इन घरों को रोकने के लिए ग्रामीणों ने अपनी ओर से कोशिश तो पूरी की थी लेकिन स्थानीय भाजपा विधायक से लेकर राज्य व केंद्र की कांग्रेस पार्टी सरकार भी नहीं बचा सकी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You