आर्थिक वृद्धि दर 5 प्रतिशत रहेगी : चिदंबरम

  • आर्थिक वृद्धि दर 5 प्रतिशत रहेगी : चिदंबरम
You Are HereNational
Monday, December 02, 2013-9:17 PM

नई दिल्ली : सितंबर तिमाही में अनुमान से बेहतर वृद्धि दर को लेकर उत्साहित वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने आज उम्मीद जताई कि मौजूदा दबाव के बावजूद चालू वित्त वर्ष में देश की आर्थिक वृद्धि दर 5 प्रतिशत रहेगी और राजकोषीय व चालू खाते का घाटा सीमा के भीतर रहेगा।

यहां एक संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा, ‘‘हम दबाव के दौर से गुजर रहे हैं, लेकिन उम्मीद अब भी कायम है हमें उम्मीद हैं कि चालू वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में चीजें बेहतर होंगी।’’

आज जारी आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक, सोने के आयात में गिरावट और निर्यात में तेजी लौटने से जुलाई -सितंबर तिमाही में देश के चालू खाते के घाटे को 5.2 अरब डालर के स्तर पर या जीडीपी के 1.2 प्रतिशत पर लाने में मदद मिली। वित्त मंत्री ने दूसरी तिमाही में उम्मीद से बेहतर 4.8 प्रतिशत की वृद्धि दर, चालू खाते के घाटे में सुधार और निर्यात में तेजी लौटने सहित विभिन्न कारकों के आधार पर यह उम्मीद जाहिर की।

चिदंबरम ने कहा कि चालू वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि दर 5 प्रतिशत रहने की संभावना है। उन्होंने कहा, ‘‘दूसरी तिमाही की जीडीपी वृद्धि दर से संकेत मिलता है कि अर्थव्यवस्था में सुधार हो रहा है और दूसरी तिमाही का निष्पादन अनुमान के मुताबिक रहा।’’ वित्त मंत्री ने कहा कि विनिर्माण, निर्यात जैसे कुछ महत्वपूर्ण क्षेत्रों में हाल के सुधार और सरकार द्वारा किए गए उपायों से अर्थव्यवस्था में और सुधार आने की संभावना है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You