सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम के बीच मतदान कल

  • सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम के बीच मतदान कल
You Are HereNcr
Tuesday, December 03, 2013-1:38 PM

नई दिल्ली (धनंजय कुमार): दिल्ली विधानसभा की सभी 70 सीटों के लिए बुधवार को होने वाले मतदान के लिए चुनाव आयोग ने तैयारियां पूरी कर ली है। आयोग ने इसके लिए करीब 12 हजार पोङ्क्षलग बूथ बनाए गए हैं जिसमें से 630 संवेदनशील तथा अतिसंवेदनशील घोषित किए गए हैं। सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने के लिए पैरामिलिट्री फोर्स के 100 जवानों के साथ दिल्ली पुलिस के 75 हजार जवानों को तैनात किया जाएगा। दिल्ली के मुख्य चुनाव अधिकारी विजय देव ने बताया कि भारतीय चुनाव के इतिहास में ऐसा पहली बार होगा कि मतदान केंद्रों की वैबकासिं्टग प्रणाली से लाइव निगरानी की जाएगी।

मतदाता पर्ची नहीं मिली, तो केंद्र पर मिलेगी: आयोग के मुताबिक सभी मतदाताओं को मतदाता पॢचयां उनके घरों तक पहुंचाई गई हैं। यदि किसी मतदाता को पर्ची नहीं मिलती तो उसे मतदान केंद्र पर ही पर्ची मिल जाएगी। आयोग पहली बार यह पर्ची उपलब्ध करवा रहा है।

‘नोटा’ पहली बार: ऐसे मतदाता, जो प्रत्याशी पसंद नहीं होने की वजह से अपने मत का प्रयोग नहीं करते, उनके लिए आयोग ने पहली बार नापसंद का अधिकार दिया है। मशीन में ही इसका बटन है।

पहली बार 4 लाख से अधिक मतदाता
आगामी 4 दिसम्बर को होने जा रहे दिल्ली विधानसभा चुनाव में चार लाख से अधिक मतदाता पहली बार मतदान करेंगे। इन सभी मतदाताओं की उम्र 18-19 साल के बीच है और इनका वोट काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है। क्योंकि पहली बार मतदान कर रहे इन युवा मतदाताओं का मन किस पार्टी व प्रत्याशी की तरफ ढलेगा, इसका अंदाजा कोई भी राजनीतिक पार्टी नहीं लगा पा रही है। यही वजह है कि सभी राजनीतिक पार्टियों ने युवाओं को रिझाने के लिए खास योजना बनाई थी। चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुाताबिक इस बार कुल 4,05,850 ऐसे युवा मतदाता हैं, जिनकी उम्र 18-19 वर्ष के बीच है। पिछले विधानसभा चुनाव में इनकी संख्या महज 98 हजार थी। उन्होंने बताया कि इन मतदाताओं के नाम मतदाता सूची में जोडऩे तथा उनका मतदाता पहचान पत्र बनाने के लिए विशेष अभियान चलाए गए थे। \

सुबह 4 बजे से चलेगी मेट्रो
विधानसभा चुनाव वाले दिन सुबह 4 बजे से मैट्रो का परिचालन शुरू हो जाएगा। दिल्ली परिवहन निगम की बसें भी तड़के 3 बजे से उपलब्ध रहेंगी। मुख्य चुनाव अधिकारी ने बताया कि मतदाताओं व ड्यूटी में लगे कर्मचारियों/अधिकारियों की सुविधा को ध्यान में रखकर यह व्यवस्था की गई है, ताकि मतदान स्थलों तक पहुंचने में उन्हें कोई परेशानी न हो। सुबह 5 बजे तक मैट्रो परिचालन हर आधे घंटे पर होगा और इसके बाद सभी रूटों पर मैट्रो अपने निर्धारित समय से चलेंगी।

मतदान के दिन रहेगा सार्वजनिक अवकाश

उप राज्यपाल नजीब जंग ने 4 दिसंबर को विधानसभा चुनाव के मौके पर सार्वजनिक अवकाश का ऐलान किया है। जंग ने अधिसूचना जारी कर कहा कि सभी सरकारी दफ्तरों और स्थानीय-स्वायत्त ईकाइयों में अवकाश रहेगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You