आसाराम को मिलेगी जेल में आयुर्वेदिक चिकित्सा

  • आसाराम को मिलेगी जेल में आयुर्वेदिक चिकित्सा
You Are HereNational
Wednesday, December 04, 2013-11:52 AM

जोधपुर: जोधपुर जिला एवं सत्र न्यायालय ग्रामीण ने नाबालिग से बलात्कार के आरोपी आसाराम बापू की अर्जी स्वीकार करके उन्हें आयुर्वेदिक चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराने के आदेश दिए है। न्यायाधीश मनोज कुमार व्यास ने इस संबंध में आसाराम की ओर से पेश अर्जी पर जेल प्रशासन को नियमों के अलावा उन्हें आयुर्वेद चिकित्सा से उपचार कराने के आदेश दिए है। न्यायाधीश मनोज कुमार व्यास ने इस संबंध में आसाराम की ओर से दायर अर्जी पर जेल प्रशासन को नियमों के अलावा उन्हें आयुर्वेदिक चिकित्सा से उपचार कराने के आदेश दिए हैं।

इस संबंध में अदालत ने जेल अधीक्षक को उपस्थित होने के आदेश दिये थे और जेल अधीक्षक मोहन शर्मा ने अदालत में पेश होकर बताया कि जेल नियमों में आयुर्वेदिक पद्वति से उपचार कराने का प्रावधान नहीं है। इसलिए उनकी त्रिनाडी शूल बीमारी का उपचार आयुर्वेदिक पद्वति से नहीं कराया गया है। अदालत ने पीड़िता की ओर से पेश उस अर्जी को खारिज कर दिया बातचीत की काल डिटेल मांगी गई थी। अदालत ने इस याचिका पर दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रखा था और  इसे खारिज कर दिया। इसी अदालत में आज आरोपियों की पेशी भी है।

उल्लेखनीय है कि इस मामलें में आसाराम के अलावा उसका मुख्य सेवादार शिवा, रसोईया प्रकाश एवं छिंदवाडा गुरुकुल के संचालक शरद चन्द्र एवं छात्रावास की वार्डन शिल्पी को भी आरोपी बनाया गया है और ये सभी गिरफ्तार है तथा यहां जेल में बंद है। उत्तर प्रदेश की एक नाबालिग लड़की ने इन पर 15 अगस्त को मणाई स्थित आश्रम में यौन शोषण का आरोप लगाया है तथा यहां की पुलिस जांच कर रही है जबकि मामला दिल्ली के कमला मार्केट थाने में 20 अगस्त को दर्ज कराया गया था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You