बहाने न बनाएं, देश के विकास के लिए आगे आएं

  • बहाने न बनाएं, देश के विकास के लिए आगे आएं
You Are HereNational
Wednesday, December 04, 2013-1:59 PM

नई दिल्ली: दिल्ली की 70 विधानसभा सीटों के लिए मतदान आज सुबह 08.00 बजे शुरू हो गया था और मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करने सुबह से ही पोलिंग बूथ पर लाइन लगा खड़े हो गए थे। कहते हैं कि मतदान लोकतंत्र के लिए  त्योहार के जैसे होता है और लोग इसमें बढ़-चढ़ कर उत्साह के साथ हिस्सा लेते हैं। मतदान एक ऐसा अधिकार है जिससे लोकतंत्र किसी को भी कुर्सी पर बिठा सकता है और किसी की कुर्सी छीन भी सकता है।

 

सच है कि चुनाव एक महापर्व जैसे ही होता है लेकिन कई लोग इसे मात्र एक छुट्टी मान घरों में बैठ जाते हैं कि हमारे एक वोट न डालने से कोई खास फर्क नहीं पड़ने वाला लेकिन जिन लोगों की यह धारणा है, गलत है क्योंकि जिस प्रकार एक पानी की एक बूंद किसी प्यासे पक्षी की प्यास बुझा सकती है वैसे ही एक कीमती वोट सत्ता का तख्ता पलट सकता है।

 

दिल्ली चुनाव में एक अपाहिज लड़की इसकी उदाहरण बनी जिसके दोनों हाथ नहीं हैं लेकिन फिर भी वह वोट डालने मतदान केंद्र पहुंची और अपने पांव के सहारे अपने फेवरेट उम्मीदवार को वोट डाला। हमें भी उस लड़की से प्रेरणा लेनी चाहिए कि यह सोच कर नहीं कि सरकार ने हमारे लिए किया क्या जो वोट डाले बल्कि इसलिए वोट डाले कि अगर पिछली सरकार ने आपके लिए कुछ नहीं किया तो नई पार्टी को एक मौका जरूर दो और अपने राइट का इस्तेमाल जरूर करें।

 

अगर वोट डालने का मन नहीं भी है तो भी मतदान केंद्र जरूर जाए और कानून ने जो नोटा का हमें अधिकार दिया है कम से कम उसका तो उपयोग हम कर सकते हैं। सरकार द्वारा वोटिंग मशीन में दिया गया ‘नोटा’ का बटन दबा हम अपने विशेष अधिकार का प्रयोग कर ऊपर दिए अन्य उम्मीदवारों को रिजेक्ट कर सकते हैं ताकि अगर हमें सभी दलों के प्रति नाराजगी है तो हम नोटा का बटन दबा सकते है लेकिन हमें अपने वोट का प्रयोग करना चाहिए।

 

वोटिंग मशीन में सबसे अंत में राइट टू रिजेक्ट यानि ‘नोटा’ ( None of the Above ) का बटन दिया गया है। गौरतल है कि दिल्ली चुनाव में इस बार कुल 810 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। इनमें 509 निर्दलीय उम्मीदवार हैं। राज्य के एक करोड़ 20 लाख से ज्यादा मतदाता आज उनकी किस्मत का फैसला करेंगे। प्रदेश के सभी 11 हजार 993 मतदान केंद्रों पर सुरक्षा व्यवस्था पूरी तरह चाक-चौबंद है। वहीं ट्विटर पर भी लोग एक-दूसरे को अपने वोट का उपयोग करने के लिए कह रहे हैं और कई दिग्गज नेता भी लोगों से वोटिंग में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेने की अपील कर रहे हैं।

Edited by:Seema Sharma

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You