दिल्ली विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस का ध्यान उत्तराखंड पर

  • दिल्ली विधानसभा चुनाव के बाद कांग्रेस का ध्यान उत्तराखंड पर
You Are HereUttrakhand
Wednesday, December 04, 2013-2:09 PM

देहरादून: दिल्ली विधानसभा चुनाव की सरगर्मियों के समाप्त होने के बाद अब कांग्रेस आलाकमान का ध्यान उत्तराखंड पर केंद्रित हो गया है जहां पिछले दिनों प्रदेश अध्यक्ष यशपाल आर्य ने इस्तीफा दे दिया। पद से आर्य के इस्तीफा देने के बाद पार्टी की अंदरूनी कलह एक बार फिर गर्मा गयी है। ऐसा माना जा रहा है कि आर्य का इस्तीफा दिलाकर पार्टी के एक गुट ने प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों पर विराम लगाने का प्रयास किया है। 

हालांकि केंद्रीय जल संसाधन मंत्री हरीश रावत के नेतृत्व वाला धड़ा अब भी इस बात पर कायम है कि प्रदेश में नेतृत्व परिवर्तन आगामी लोकसभा चुनावों के मद्देनजर जरूरी है। इस खेमे का मानना है कि इस वर्ष के मध्य में आयी भीषण आपदा के दौरान और उसके बाद उससे निपटने के लिये किये गये प्रयासों में राज्य सरकार की विफलता से प्रदेश और देश में उसकी खासी किरकिरी हुई तथा इसका नकारात्मक असर आगामी लोकसभा चुनावों में दिखने की आशंका है।

 इस धड़े के नेताओं ने कहा कि वैसे भी राज्य सरकार अपने मुखिया के परिवार के इर्द गिर्द सिमट कर ही रह गयी है और उसमें पार्टी के निष्ठावान तथा कर्मठ कार्यकर्ताओं के लिए कोई जगह नहीं रह गयी है। रावत खेमे के एक वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री ने जोर देकर कहा कि कांग्रेस आलाकमान इस बात पर विचार कर रहा है कि मुख्यमंत्री विजय बहुगुणा को जल्द ही पद से मुक्त किया जाये और इस बारे में जल्द ही फैसला ले लिया जायेगा।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You