वोटिंग में बुजुर्गों ने दिखाया युवाओं सा उत्साह

  • वोटिंग में बुजुर्गों ने दिखाया युवाओं सा उत्साह
You Are HereNational
Wednesday, December 04, 2013-11:46 PM

नई दिल्ली (सतेन्द्र त्रिपाठी): विधानसभा चुनाव को लेकर अपनी सरकार चुनने के लिए बुजुर्गों में आज खासा उत्साह दिखा। सैंकड़ों बुजुर्गो ने वोट डालने के मामले में युवाओं को भी मात दे दी। उनका कहना था कि जब हमें मौका मिला है कि ईमानदार सरकार का चुनाव करे तो हम इस मौके को गंवाए क्यों?

सीलमपुर में 95 साल राम खिलावन को उनके दो बच्चे सहारा देकर जब मतदान केन्द्र में ले गए तो हर कोई उन्हें देखकर हैरान था। पता लगा कि उनकी तबियत भी कुछ ठीक नहीं है। बावजूद इसके वह वोट डालने को लेकर उत्साहित थे।

शाी पार्क में 90 साल के रमजानी को उनके एक रिश्तेदार समीर गोद में उठाकर मतदान केन्द्र ले गए। मतदान केन्द्र के अधिकारियों ने उन्हें वोट डालने के लिए पहले मौका दिया। कई लोग छड़ी का सहारा लेते हुए मतदान केंद्रों तक पहुंचे और कुछ व्हील चेयर पर वोट डालने जा पहुंचे।

 नई दिल्ली विधानसभा के तहत सरोजनी नगर मतदान केन्द्र पर पहुंची 91 साल की यमुना देवी का कहना था कि वह 1964 से वोट डाल रही है। कोई भी चुनाव हो, वह वोट डालना नहीं भूलती। लक्ष्मीनगर में मतदान करने पहुंचे रमेश जैन (71) ने कहा कि वह हर चुनाव में पूरे परिवार को लेकर वोट डालने के लिए आते हैं।

 चुनाव वाले दिन सबसे पहला काम वोट डालना, नाश्ता उसके बाद। गांधी नगर में आए अस्सी साल के राकेश प्रसाद ने कहा कि अगर कोई यह कहता है कि एक वोट से क्या फर्क पड़ेगा तो यह गलत बात है, कई बार चुनाव परिणामों ने दिखाया है कि हर वोट बेहद कीमती है। राजस्थान में कांग्रेस के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार सीपी जोशी तो एक वोट से ही हारे थे।

जाफराबाद में रहने वाले अब्दुल रशीद (75) ने कहा कि पांच साल में एक बार तो मौका मिलता है कि किसे चुने, अगर यह मौका भी चूक गए तो फिर पछताते रहेंगे। मुस्लिम इलाकों में बुजुर्गो में जबरदस्त उत्साह दिखाई पड़ रहा था। घोंडा में रहने वाली रामवत ी(81) तो छड़ी का सहारा लेकर केन्द्र पहुंची।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You