पुलिस नारायण साईं को सूरत लेकर पहुंची, कोर्ट में आज होगी पेशी

You Are HereNational
Thursday, December 05, 2013-12:18 PM

अहमदाबाद: सूरत में युवती से यौन उत्पीडऩ मामले में गिरफ्तारी से बचकर भाग रहा आसाराम का बेटा नारायण साईं आखिर बुधवार को दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने दबोच लिया है। सूरत पुलिस नारायण साईं को लेकर सूरत पहुंच गई है। नारायण साईं को दिल्ली से स्पाइसजेट SG-151 फ्लाइट से सूरत ले जाया गया और आज (गुरुवार) को सूरत कोर्ट में पेश किया जाएगा। नारायण साईं को सूरत एयरपोर्ट से पुलिस हेडक्वार्टर ले जाया जा रहा है। आज नारायण साईं को लेकर सुबह करीब आठ बजे सूरत एयरपोर्ट पहुंची। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार नारायण साईं फ्लाइट में चुप रहा और बस इतना ही कहा कि ये वक्त बीत जाएगा और मैं इन आरोपों को स्वीकार नहीं करता हूं।

ऐसे हुई नारायण साईं की गिरफ्तारी

2 दिसंबरः दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच को सूत्रों से जानकारी मिली कि नारायण साईं लुधियाना में है। क्राइम ब्रांच के 10 अधिकारियों की टीम नारायण साईं को पकड़ने लुधियाना रवाना हुई।

3 दिसंबरः दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के 20 और अधिकारी लुधियाना के लिए रवाना हुए।

दिल्ली पुलिस की टीम भी लुधियाना पहुंचने की तैयारी में थी तभी सूचना मिली कि नारायण साईं फोर्ड इको स्पोर्ट्स SUV गाड़ी जिसका रजिस्ट्रेशन नंबर उत्तर प्रदेश का था उसमें बैठकर दिल्ली के लिए रवाना हो चुका है। दिल्ली पुलिस ने हर उस जगह अपनी टीमें तैनात कर दीं, जहां नारायण साईं के जाने की आशंका थी।

 

नैशनल हाइवे-1 पर कुरुक्षेत्र के पास पीपली गांव में बुधवार रात को करीब 10 बजे नारायण साईं को गिरफ्तार किया गया। नारायण साई इस गाड़ी में ड्राइवर रमेश (27), जुवेनाइल कुक, कौशल उर्फ हनुमान (29) के साथ था। उन्हें भी साथ में गिरफ्तार कर लिया गया। नारायण साईं को पकड़ा तब वह सिखों की वेशभूषा में था। पुलिस से बचने के लिए उसने यह वेशभूषा धारण की हुई थी, वो जींस- टीशर्ट और नारंगी रंग की पगड़ी में था। गौरतलब है कि नारायण साईं के पिता आसाराम पहले ही एक लड़की से यौन शोषण मामले में जेल में बंद हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You