‘परिवार का एक सदस्य फेल हो तो दूसरे को आजमाया जाए’

  • ‘परिवार का एक सदस्य फेल हो तो दूसरे को आजमाया जाए’
You Are HereNational
Thursday, December 05, 2013-4:46 PM

नई दिल्ली: भाजपा के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली ने आज कहा कि चुनावों में कांग्रेस की संभावित हार के बाद उन्हें आश्चर्य नहीं होगा कि यह पार्टी अपनी उस परंपरागत सोच को ही आगे बढ़ाए कि ‘परिवार का एक सदस्य फेल हो गया तो दूसरे को आजमाया जाए’। जेटली ने राहुल गांधी या उनकी बहन प्रियंका गांधी का नाम लिए बिना कहा, ‘‘मैं यह देखने का इंतजार कर रहा हूं कि 8 दिसंबर को आने वाले चुनावी नतीजों पर कांग्रेस कैसे प्रतिक्रिया करती है।

 

इस पार्टी को गहराई से जानने के चलते, मुझे संदेह है कि यह सही सवाल करेगी। जब तक वह सही सवाल नहीं करेगी, वह सही जवाब भी नहीं पाएगी।’’ चार राज्यों, दिल्ली, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और राजस्थान में कांग्रेस की हार मान कर चल रहे राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष ने फेसबुक से प्रेषित अपने नए लेख में कहा, ‘‘मुझे इस बात पर कतई हैरानी नहीं होगी कि कांग्रेस अगर अपनी परंपरागत सोच के तहत समस्या का यह समाधान करती है कि ‘परिवार का एक सदस्य फेल हो गया, तो हम दूसरे को आजमाएं’।’’

 

कांग्रेस को सीख देते हुए उन्होंने कहा, राजनीति के कलेण्डर में अंतिम दिन कभी नहीं होता। यह सदैव चलने वाला कलेण्डर है। आप तब तक नहीं हारते जब तक कि आप कोशिश करना नहीं छोड़ देते। कांग्रेस ने प्रयास करना छोड़ दिया। दिल्ली के चुनावों के बारे में यह पूरी तरह सत्य है जिसे कांग्रेस के केन्द्रीय नेतृत्व ने छोड़ दिया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You