देश में इंटरनेट का कम उपयोग चिंता का विषय : सिंह

  • देश में इंटरनेट का कम उपयोग चिंता का विषय : सिंह
You Are HereNational
Thursday, December 05, 2013-8:07 PM

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने मंगलवार को कहा कि भारत को इलेक्ट्रॉनिक्स और दूरसंचार क्षेत्र में एक सशक्त घरेलू विनिर्माण आधार बनाने की जरूरत है, ताकि ऐसे उत्पादों पर आयात खर्च को घटाया जा सके। उन्होंने यह भी कहा कि देश में इंटरनेट का काफी कम उपयोग हो रहा है और यह चिंता का विषय है। प्रधानमंत्री ने ये बातें ‘भारत दूरसंचार 2013’ का उद्घाटन करने के बाद कहीं। सम्मेलन का आयाजन यहां फेडरेशन ऑफ इंडियन चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) और दूरसंचार विभाग ने मिलकर किया।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘भारत को इलेक्ट्रॉनिक्स और दूरसंचार क्षेत्र में एक सशक्त घरेलू विनिर्माण आधार बनाने की जरूरत है। यह अनुमान है कि 2020 तक भारत 300 अरब डॉलर मूल्य के इलेक्ट्रॉनिक्स उत्पादों का आयात करने लगेगा, जो हमारें तेल आयात के मूल्य से भी अधिक होगा।’’ प्रधानमंत्री ने टेलीफोन के कम घनत्व और इंटरनेट के कम उपयोग पर भी असंतोष जताया। उन्होंने कहा, ‘‘ग्रामीण टेलीफोन घनत्व 40 फीसदी से कुछ ही ऊपर है और लाखों लोग दूरसंचार क्रांति से अछूते हैं। यह एक चुनौती है।’’

सिंह ने आगे कहा कि इंटरनेट कनेक्टिविटी के मामले में यह कमी और अधिक है। प्रति व्यक्ति आधार पर भारत में इंटरनेट का उपयोग काफी कम है। इसी अवसर पर दूरसंचार मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा कि उन्हें मौजूदा कारोबारी साल में स्पेक्ट्रम की नीलामी से 40 हजार करोड़ रुपये की आय होने का अनुमान है। स्पेक्ट्रम की अगली नीलामी जनवरी 2014 में होगी। केंद्रीय दूरसंचार राज्य मंत्री मिलिंद देवड़ा ने कहा कि नीतिगत मुद्दे पर उद्योग जगत में सहमति होनी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘सरकार और उद्योग में सहमति बनने से पहले उद्योग में सहमति बननी चाहिए।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You