‘तबाही का नुस्खा’ है केंद्र का प्रस्तावित विधेयक

  • ‘तबाही का नुस्खा’ है केंद्र का प्रस्तावित विधेयक
You Are HereNational
Thursday, December 05, 2013-10:42 PM

नई दिल्ली : सांप्रदायिक हिंसा विरोधी बिल को लेकर तकरार बढ़ गई है। कांग्रेस पार्टी जहां इसे हर हाल में पास करवाना चाहती है, वहीं भाजपा के प्रधानमंत्री प्रत्याशी नरेंद्र मोदी इसके विरोध में खुलकर अड़ गए हैं। मोदी ने प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह को चिट्ठी लिखकर इस बिल का विरोध जताया है। साथ ही कहा कि सांप्रदायिक हिंसा विरोधी बिल से समाज बंटेगा। यह प्रस्तावित विधेयक ‘तबाही का नुस्खा’ है।

मोदी ने विधेयक को राज्यों के अधिकार क्षेत्र का अतिक्रमण का प्रयास का आरोप लगाते हुए कहा कि इस संबंध में आगे कोई कदम उठाने से पहले इस पर राज्य सरकारों, राजनीतिक पार्टियों, पुलिस और सुरक्षा एजेंसी जैसे साझेदारों से व्यापक विचार विमर्श किया जाना चाहिए। मोदी का यह पत्र संसद के शीत सत्र की शुरूआत पर सुबह आया है। मौजूदा सत्र में विधेयक पर चर्चा होने की उम्मीद है।

मोदी ने अपने पत्र में आरोप लगाया कि सांप्रदायिक हिंसा विधेयक गलत ढंग से विचारित, जैसे तैसे तैयार और तबाही का नुस्खा है। राजनीति के कारणों से, और वास्तविक सरोकार के बजाय वोट बैंक राजनीति के चलते विधेयक को लाने का समय संदिग्ध है।

मोदी ने कहा कि प्रस्तावित कानून से लोग धार्मिक और भाषाई आधार पर और भी बंट जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रस्तावित विधेयक से ‘धार्मिक और भाषाई शिनाख्त और भी मजबूत होंगी और हिंसा की मामूली घटनाओं को भी सांप्रदायिक रंग दिया जाएगा और इसतरह विधेयक जो हासिल करना चाहता है, उसका उलटा नतीजा आएगा। मोदी ने प्रस्तावित सांप्रदायिक हिंसा उन्मूलन (न्याय एवं प्रतिपूर्ति) विधेयक, 2013 के ‘कार्य के मुद्दे’ भी बुलंद किए।

उन्होंने कहा कि मिसाल के तौर पर अनुच्छेद 3 (एफ) जो वैमनस्यपूर्ण वातावरण’ को परिभाषित करता है, व्यापक, अस्पष्ट है और दुरूपयोग के लिए खुला है। मोदी ने कहा कि इसी तरह अनुच्छेद 4 के साथ पठन वाले अनुच्छेद 3 (डी) के तहत सांप्रदायिक हिंसा की परिभाषा ये सवाल खड़े करेगी कि क्या केन्द्र भारतीय आपराधिक विधिशास्त्र के संदर्भ में विचार अपराध की अवधारणा लाई जा रही है। मोदी ने अपने पत्र में कहा कि साक्ष्य अधिनियम के दृष्टिकोण से इन प्रावधानों को जांचा परखा नहीं गया है।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You