त्रिनगर में 70.38 प्रतिशत मतदाताओं ने डाले वोट

  • त्रिनगर में 70.38 प्रतिशत मतदाताओं ने डाले वोट
You Are HereNational
Friday, December 06, 2013-7:21 AM

नई दिल्ली : पहली बार के मतदाताओं का असर त्रिनगर विधानसभा चुनाव में साफ दिखा। आंकड़े बताते हैं कि इस विधानसभा में हुए मतदान में पहली बार मतदाता बने युवाओं ने अपने पूरा जोश दिखया।

इन युवाओं के जोश का नतीजा है कि यहां पिछली बार की तुलना में सात प्रतिशत ज्यादा मत पड़े। अब देखना यह दिलचस्प होगा कि जीत का सेहरा किसके सिर पर बंधता है। क्योंकि वर्तमान कांग्रेसी विधायक व प्रत्याशी अनिल भारद्वाज से इनके क्षेत्र की जनता भले ही थोड़ी संतुष्ट नजर आई, लेकिन बढ़ती महंगाई के लिए कांग्रेस पार्टी को जिम्मेदार मान रही त्रिनगर के निवासियों के गुस्से का खामियाजा उन्हें उठाना पड़ सकता है।

जीत की राह वैसे तो भाजपा प्रत्याशी नंद किशोर गर्ग के लिए भी आसान नहीं है। क्योंकि पिछले विधानसभा चुनाव में गर्ग को भारद्वाज ने महज 1969 मतों से हराया हो, लेकिन इस बार उन्हें लेकर पार्टी में ही विरोधी तेवर तेज थे।

भाजपा कार्यकर्ताओं ने गर्ग को टिकट दिए जाने के खिलाफ पार्टी कार्यालय में प्रदर्शन करने के अलावा क्षेत्र में भी भितरघात करना शुरू कर दिया था। ऐसे में महंगाई व बुनियादी समस्याओं से परेशानी जनता किसे अपना प्रतिशत चुनती है यह चुनाव परिणाम ही तय करेगा।

क्योंकि यहां बढ़े मत प्रतिशत में पहली बार के मतदाताओं की भूमिका अहम मानी जाती है। दिल्ली के 4.5 लाख पहली बार के  मतदाताओं की काफी संख्या यहीं थी। जिन्होंने पूरे उत्साह के साथ मतदान किया है। माना जाता है कि इन युवाओं को किसी राजनीतिक पार्टी के बजाय एक साफ-स्वच्छ छवि वाले प्रत्याशी ज्यादा लुभाते हैं। ऐसे में आप प्रत्याशी जतिंद्र तोमर की स्थिति भी अच्छी हो सकती है और चौंकाने वाले चुनाव परिणाम की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You