महिलाओं पर विवादास्पद बयान दे फंसे फारूक : बाद में मांगी माफी

You Are HereNational
Friday, December 06, 2013-3:10 PM

श्रीनगर:  केन्द्रीय मंत्री फारूक अब्दुल्ला ने आज महिलाओं के बारे में एक विवादास्पद बयान दे दिया हालांकि बाद में उसके लिए माफी मांगी। अपने बयान में उन्होंने कहा था कि महिलाओं को सचिव नहीं नियुक्त करना चाहिए क्योंकि यदि यौन उत्पीड़न की शिकायत हो गयी तो जेल की हवा खानी पड़ सकती है।

  उन्होंने यहां संसद भवन परिसर में संवाददाताओं से बातचीत में कहा, ‘‘इन दिनों हालात ऐसे हो गए है कि लड़कियों से बात करते डर लगता है। हमें लगता है कि महिला को सचिव नहीं रखना चाहिए। खुदा ना करे, अगर कोई शिकायत हो गई तो हमें जेल की हवा खानी पड़ सकती है।’’  केन्द्रीय मंत्री अब्दुल्ला कुछ महत्वपूर्ण हस्तियों पर चल रहे यौन हिंसा के मामलों को लेकर किये गये सवालों का जवाब दे रहे थे। 

यह पूछने पर कि क्या वह महिलाओं को दोषी ठहरा रहे हैं, उन्होंने कहा, ‘‘नहीं, नहीं, मैं लड़की को दोषी नहीं ठहरा रहा हूं। मैं तो समाज पर आरोप लगा रहा हूं। समाज ऐसे स्तर पर पहुंच गया है जब दूसरी ओर से शिकायतें आ रही हैं।’’एशेज क्रिकेटरों ने अपने हाथों में काली पट्टियां बांध कर मंडेला के प्रति अपनी संवेदना प्रकट की है ।

आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड की टीमों ने आज एडिलेड में दूसरा क्रिकेट टेस्ट शुरू होने से पूर्व दो मिनट का मौन रखा इसी तरह डुनेडिन में न्यूजीलैंड और वेस्टइंडीज की टीमों ने भी इसी तरह अपनी संवेदना प्रकट की । 

विश्व फुटबाल संगठन फीफा के अध्यक्ष सैप ब्लाटर ने मंडेला को इस सदी का सबसे बेहतर इंसान बताया है । महान गोल्फ खिलाड़ी टाइगर वुड्स ने कहा कि वे दक्षिण अफ्रीका के रंग भेद विरोधी इस महान नेता से काफी प्रभावित रहे हैं।  न्यूजीलैंड के रग्बी खिलाडिय़ों ने भी मंडेला के प्रभाव को स्वीकार किया जिनसे प्रेरित होकर दक्षिण अफ्रीका ने 1995 विश्व कप फाइनल में उन्हें हराया था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You