Subscribe Now!

भाजपा पर हजार करोड़ का लगा दांव

  • भाजपा पर हजार करोड़ का लगा दांव
You Are HereNational
Friday, December 06, 2013-1:46 PM

नई दिल्ली (कुमार गजेन्द्र): दिल्ली  में मतदान के बाद सट्टा बाजार गर्मा गया है। भाजपा के सरकार बनाने पर सट्टेबाजों ने करीब एक हजार करोड़ का दांव खेला है। कांग्रेस को लेकर सट्टा बाजार नम्र दिखाई दे रहा है, जबकि आप पार्टी की शाख बाजार में कहीं दिखाई नहीं दे रही है। बसपा को लेकर सट्टेबाजों में फिर भी उत्साह दिखाई दे रहा है।

सट्टा बाजार में सक्रिय बुकी की मानें तो दिल्ली  की सत्ता पर कब्जा जमाने को लेकर सट्टा बाजार में भाजपा का रेट 10 पैसा हो गया है। यह रेट बाजार में सबसे बेहतर रेट माना जाता है। कांग्रेस का रेट में 30 पैसे बना हुआ है। सट्टा बाजार में सक्रिय बड़े बुकी के मुताबिक बाजार में इस वक्त भारतीय जनता पार्टी का रेट 15 पैसे हो गया है।  यानी अगर कोई भाजपा पर एक लाख रुपए लगाता है, तो उसे सवा चार लाख रुपए मिलेंगे। कांग्रेस दूसरे नंबर पर बनी हुई है।

यानी अगर कोई कांग्रेस पर दांव लगाता है, तो उसे दो से ढाई लाख रुपए ही मिलेंगे। दिल्ली  में पहली बार चुनाव में मैदान में उतरने वाली अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी को अभी भी सट्टा बाजार में खास जगह नही मिल पा रही है। आम आदमी पाटी अब और बसपा साढ़े तीन रुपए के रेट पर हालांकि तीसरे नंबर पर हंै, इसके बावजूद इस पार्टी की जीत और अच्छे प्रदर्शन को लेकर सट्टेबाज पशोपेश में हैं। पिछले दिनों राहुल गांधी की रैलियों में भीड़ न जुटने देने के पीछे भी सट्टा बाजार ही था। राहुल गांधी की रैली में भीड़ न जुटने के पीछे भी सट्टेबाजों का खेल था।

दरअसल अंबेडकर नगर जैसे इलाकों में सबसे ज्यादा सट्टेबाज सक्रिय हैं। इनमें ज्यादातर विभिन्न पार्टियों के कार्यकर्ता भी शामिल हैं। अगर किसी प्रत्याशी की किसी वजह से मौत हो जाती है, तो डील कैंसिल हो जाती है। क्राइम ब्रांच के अतिरिक्त आयुक्त रविन्द्र यादव का कहना है कि पुलिस को सट्टेबाजों के बारे में जानकारियां मिल रहीं हैं, हम इस पर लगातार काम कर रहे हैं। सूचना मिलने पर हमारे लोग कार्रवाई करेंगे।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You