यहां महंगाई के मुद्दे से कांग्रेस सांसत में

  • यहां महंगाई के मुद्दे से कांग्रेस सांसत में
You Are HereNcr
Friday, December 06, 2013-1:57 PM

नई दिल्ली (धनंजय कुमार): अधिकांश थोक व बड़े बाजारों वाले सदर बाजार विधानसभा क्षेत्र का चुनाव परिणाम चाहे जो भी आए, लेकिन यहां पर महंगाई डायन का ही असर है कि पिछली बार की तुलना में 10 प्रतिशत ज्यादा मतदान हुआ है।

खास बात यह है कि इस विधानसभा से चुनाव लड़ रहे भाजपा व कांग्रेस दोनों ही राजनीतिक पार्टियों के प्रत्याशियों का एक-दूसरे से पिछले विधानसभा चुनाव में भी हो चुका है। तब कांग्र्रेस के राजेश जैन ने भाजपा प्रत्याशी जयप्रकाश को 14,089 वोट से हराया था, लेकिन इस बार स्थिति दूसरी है।

दोनों प्रत्याशियों के  अलावा आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी भी मजबूती से ताल ठोक रहे थे और मतदान के दौरान इनकी टेबल पर भी मतदाताओं की अच्छी भीड़ देखने को मिली। कांग्रेस प्रत्याशी व वर्तमान विधायक राजेश जैन के सामने सबसे बड़ी चुनौती यहां अपने कार्यकाल के दौरान यहां पीने के पानी, पार्किंग व सीवर की समस्या को न सुलझा पाना है।

साथ ही जनता महंगाई के लिए कांग्रेस पार्टी की गलत नीतियों को मान रही है। ऐसे में इस विधानसभा क्षेत्र में बढ़ा मतदान प्रतिशत वर्तमान विधायक के लिए अच्छे संकेत नहीं हैं। वैसे भी यहां काफी संख्या में व्यापारी रहते हैं और बीते पांच वर्षों के दौरान के व्यवसाय से आय की तुलना में खर्च का प्रतिशत भी कम नहीं रहा है।

ऐसे में महंगाई का गुस्सा यदि यहां के व्यापारी कांग्रेस प्रत्याशी पर उतारे होंगे तो भाजपा प्रत्याशी को फायदा होने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। क्योंकि अपने घोषणा पत्र में भाजपा ने व्यापरियों के लिए काफी उदार नीतियों की घोषणा की है। व्यापारी यदि भाजपा के इस घोषणा पत्र पर आकर्षित होते हैं तो पिछली बार भारी मतों से हारे भाजपा प्रत्याशी जयप्रकाश को विधानसभा में जाने का मौका मिल सकता है। कांग्रेस पार्टी का खेल आप प्रत्याशी भी बिगाड़ सकते हैं, क्योंकि माना जा रहा है कि इस चुनाव में आप के कूदने का नुकसार कांग्रेस को ही होने वाला है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You