जयललिता चुनाव आचार संहिता उल्लंघन की दोषी करार

  • जयललिता चुनाव आचार संहिता उल्लंघन की दोषी करार
You Are HereNational
Friday, December 06, 2013-11:41 PM

नई दिल्ली: चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन पर तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता के बचाव को खारिज करते हुए चुनाव आयोग ने आज उन्हें सलाह दी कि वह भविष्य में सतर्क रहें और चुनाव के दौरान मतदाताओं को लुभाने के लिए नई योजनाओं की घोषणा न करें। आयोग ने विभिन्न राजनीतिक दलों और खासकर उनके नेताओं से आदर्श चुनाव आचार संहिता का निष्ठापूर्वक पालन करने को भी कहा।

चुनाव आयोग ने अपने आदेश में कहा कि आयोग जयललिता के जवाब में दी गई दलील को खारिज करती है और उन्हें यह सलाह देने का निर्णय करती है कि वह भविष्य में सतर्क रहें और मतदाताओं को लुभाने के इरादे से उनके लिए इस तरह की नयी योजनाओं की घोषणायें नहीं करें। चुनाव आयोग ने जयललिता को तमिलनाडु विधानसभा की यरकौड सीट के लिए चार दिसम्बर को होने वाले उपचुनाव से पहले नयी योजना घोषित कर आचार संहिता का कथित उल्लंघन करने के लिए दो दिसम्बर को नोटिस जारी किया था और उनसे कल शाम पांच बजे तक जवाब देने को कहा था कि क्यों नहीं आचार संहिता के उल्लंघन के लिए उनके खिलाफ कार्रवाई शुरू की जाए।

जयललिता पर आरोप था कि उन्होंने 28 नवम्बर को अपनी एक चुनावी सभा में उस इलाके के विकास के लिए योजनाओं की घोषणा की जहां उपचुनाव होने वाले हैं। जयललिता ने आयोग को उसकी नोटिस पर भेजे अपने जवाब में कहा कि उन्होंने आचार संहिता का कोई उल्लंघन नहीं किया है और उनके द्वारा की गई घोषणायें सामान्य प्रकृति की थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You