अखिलेश से मिले जगनमोहन: अलग तेलंगाना के खिलाफ सहमति बनी

  • अखिलेश से मिले जगनमोहन: अलग तेलंगाना के खिलाफ सहमति बनी
You Are HereNational
Saturday, December 07, 2013-10:47 AM

 लखनऊ: अलग तेलंगाना राज्य के गठन के खिलाफ समर्थन जुटाने की कोशिश कर रहे वाईएसआर कांग्रेस प्रमुख जगनमोहन रेड्डी ने आज उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से मुलाकात करके इस मुद्दे पर चर्चा की। मुख्यमंत्री ने इस मुलाकात के बाद संवाददाताओं से कहा कि सपा किसी भी राज्य के विभाजन के पक्ष में नहीं है और इसके लिये वह कुछ भी करेगी। उन्होंने कहा ‘‘नेताजी (सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव) हमेशा छोटे राज्यों के विरोध में रहे हैं। सपा ने हर मौके पर कहा है कि छोटे राज्य बन जाने से समस्याओं का समाधान नहीं होता। ऐसे भी उदाहरण हैं कि जब कोई राज्य बंटा है तो बहुत सी चीजें नहीं बंट सकीं।’’

अखिलेश ने कहा ’’सपा विभाजन के पक्ष में नहीं है। वह (जगनमोहन) अनुच्छेद तीन में संशोधन की बात कह रहे हैं। हम जब विभाजन के पक्ष में ही नहीं हंै तो इसके लिये कुछ भी करेंगे।’’  उन्होंने कहा, ‘‘मैं और जगनमोहन जी लोकसभा में मिले थे। मैं लोकसभा से बाहर आ गया लेकिन यह रिश्ता लम्बे समय तक चलेगा। विचारधारा आएगी जाएगी लेकिन सम्बन्ध कभी नहीं बिगड़ेंगे।’’  रेड्डी ने इस मौके पर कहा ‘‘मैंने अखिलेश जी से तेलंगाना के गठन और उसके नतीजों के बारे में विस्तार से बात की। मैंने उनसे समर्थन मांगा। हमने अनुच्छेद तीन में संशोधन के बारे में भी बात की।

उन्होंने हमारी इस बात से सहमति जतायी कि विभाजन नहीं होना चाहिये। हम उनके शुक्रगुजार हैं।’’  उन्होंने कहा ‘‘मेरा मानना है कि अगर आंध्र प्रदेश का बंटवारा हुआ तो आने वाले समय में लोकसभा में 272 सीटें रखने वाली कोई भी पार्टी अपनी मर्जी से किसी भी राज्य को बांट सकती है। तेलंगाना इसका उदाहरण होगा। अनुच्छेद तीन में संशोधन होना चाहिये।’’ रेड्डी ने कहा ‘‘हमने भाजपा से लेकर ममता दीदी (तृणमूल कांग्रेस) तक से कहा कि वे हमारा साथ दें। लोकतंत्र का सम्मान करने वाले हर व्यक्ति को हमारा साथ देना चाहिये। अगर तेलंगाना का गठन हुआ तो अनेक अन्य राज्यों के गठन की बात की जाने लगेगी, जो देशहित में नहीं होगा।’’

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You