अजब-गजब जवाबों से मजाक बना 4 ईयर कोर्स

  • अजब-गजब जवाबों से मजाक बना 4 ईयर कोर्स
You Are HereNcr
Saturday, December 07, 2013-2:19 PM

नई दिल्ली (मनीष राणा): दिल्ली विश्वविद्यालय में फोर ईयर ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स का समेस्टर परीक्षा में छात्र खुलकर माखौल उड़ाते दिख रहे हैं। सीधे-सीधे सवालों का भी छात्र अजब-गजब जवाब दे रहे है। जिससे प्रोफेसरों को जहां हंसी भी आ रही हैं, तो वहीं छात्रों के ज्ञान पर गुस्सा भी आ रहा है। साथ ही यह भी दिक्कत बनी हुई है, कि छात्र पास कैसे होंगे।

दिल्ली विश्वविद्यालय द्वारा फोर ईयर ग्रेजुएशन डिग्री कोर्स शुरू करने के साथ ही कोर्स को लेकर विवाद शुरु हो गया था। डूटा के बैनर तले प्रोफेसर इसके विरोध में उतर आए थे। वहीं दूसरी तरफ आईसा और ए.बी.वी.पी. जैसे छात्र संगठनों के नेतृत्व में छात्र भी खुलकर इसके विरोध में उतर आए। इन सबके बावजूद विश्वविद्यालय ने कोर्स इसी सत्र से लागू कर दिया।

विरोध को देख एफ.यू.पी. कोर्स में फाऊंडेशन को वैटेज दिया गया। फाऊंडेशन को वैटेज देने के साथ ही अंक भी अधिकतर कॉलेज प्रोफेसरों द्वारा देना तय कर दिया गया। साथ ही स्टूडेंट्स के लिए ई-लर्निंग मैटीरियल तैयार गया। पर समेस्टर परीक्षा में छात्रों के जवाब बता रहे है कि यह सब बेकार गया।

प्रींसिपल ऑफ इक्रोमिक्स के पेपर में तो एक छात्र ने सवाल का जवाब देते हुए फोर ईयर कोर्स पर ही हमला कर दिया। परीक्षा में सवाल पूछा गया था कि सन्क कॉस्ट क्या होती है उदाहरण सहित बताएं। जवाब था सन्क कॉस्ट वह पैसा होता है जो डूब जाता है। इसके जवाब में छात्र ने लिखा है, जो मैने फोयर ईयर कोर्स में एडमिश्न लिया। एडमिशन बाद पता चला कोर्स में मैं कुछ नहीं सीख रहा हूं। 3 वर्ष बाद पता चला एडमिशन में जो पैसा लगा वो सन्क कॉस्ट है।

यानि छात्र एडमिशन में खर्च हुए पैसे को डूबा हुआ पैसा मान रहा है। छात्र के इस जवाब को डी.यू. के प्रोफेसर ने फेसबुक पर डाल दिया। जहां यह हजारों फॉलोअर के बीच खूब चर्चा बटोर रहा है। इसी तरह आई.टी. के पेपर में  पॉवर पोस्ट प्रजेंटेश्न के जवाब में लिखा है कि इसके लिए पहले जमीन की तलाश करें।

जमीन में घास नहीं होनी चाहिए और आसपास जहरीली गैस नहीं फैली हो। इसके बाद इसे उगाया जाता है।  इसी तरह ई कचरा क्या है ? के जवाब में एक छात्र ने लिखा मेरे पड़ोस में टिंकू की मम्मी रहती है। वह कहीं भी सड़क पर कचरा डाल देती है। जिससे वहां से निकलने वाले कचरे को देख ई..ई..ई.. करते हैं। जिस कचरे को देख मुंह से ई..ई. निकले उसे ई-कचरा कहते हैं। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You