भाजपा के नेताओं ने आप के उम्मीदवारों से संपर्क किया: सिसौदिया

  • भाजपा के नेताओं ने आप के उम्मीदवारों से संपर्क किया: सिसौदिया
You Are HereNational
Saturday, December 07, 2013-4:16 PM

नई दिल्ली: एक्जिट पोलों के अनुमानों में दिल्ली में त्रिशंकू विधानसभा होने की स्थिति में राजनीतिक दल परिणाम के बाद सरकार के गठन की जोड़-तोड़ में अभी से जुट गए हैं।

आम आदमी पार्टी (आप) के प्रमुख सदस्य मनीष सिसौदिया ने आज दावा किया कि उनकी पार्टी के उम्मीदवारों से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्यों ने त्रिशंकू विधानसभा की स्थिति में भाजपा का समर्थन करने के लिए संपर्क साधा है।

सिसौदिया ने आज कहा, ‘‘हमारे कुछ उम्मीदवारों ने जानकारी दी है कि भाजपा के कुछ सदस्यों ने उनसे संपर्क साधा है। हालांकि अभी यह पुष्टि नहीं हुई है कि यह संपर्क भाजपा को समर्थन देने के लिए किया गया है, किंतु वे कुछ इसी दिशा में प्रयास कर रहे हैं।’’

उन्होंने कहा कि भाजपा के सदस्यों के संपर्क करने में आप के लोगों ने उन्हें काफी सधा जवाब दिया। आप के प्रत्याशियों का कहना था कि यदि उन्होंने कांग्रेस अथवा भाजपा के विरोध में वोट मांगे हैं तो फिर आप दोनों दलों को साथ देने का मतलब ही नहीं उठता। यह तो जनता के साथ धोखा करने जैसा और उनका विश्वास तोडऩा होगा।

सिसौदिया ने यह भी बताया कि चुनाव में तय सीमा से अधिक खर्च करने के लिए सब डिवीजन मजिस्ट्रेट-एसडीएम ने नोटिस भेजा
है। उन्होंने आरोप लगाया एसडीएम मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के इशारे पर काम कर रहा है। नोटिस में अरविंद केजरीवाल पर तय सीमा से अधिक राशि खर्च करने का उल्लेख है जबकि सच्चाई यह है कि केजरीवाल ने अपने विधानसभा क्षेत्र नई दिल्ली के चुनाव पर केवल तीन लाख रुपया ही खर्च किया है।

नोटिस में कहा गया है, ‘‘जंतर-मंतर पर हुए एक कंसर्ट में 16 लाख रुपए से अधिक खर्च किए गए हैं। सिसौदिया ने कहा, ‘‘जीत की गूंज नाम के इस कार्यक्रम में जितने भी कलाकार भाग लेने आए थे उन्होंने कोई भी पैसा लिए बिना अपना योगदान दिया। लेकिन उनका कहना है कि इस बात से उन्हें कोई लेना देना नहीं है कि कलाकारों ने पैसा लिया है अथवा नहीं। वह आमतौर पर ऐसे कार्यक्रम के लिए जितना धन लेते हैं उसे जोड़ा जाएगा। यह पूरी तरह से न्यायोचित नहीं है।’’

आप नेता ने नोटिस चुनाव आयोग का एक राजनीतिक स्टंट बताया जो केजरीवाल को तंग करने के लिए है। आप इसका जवाब देगी और पार्टी को उम्मीद है कि जवाब देने के बाद यह नोटिस कहीं नहीं ठहरने वाला है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You