मोदी की रैली बनी उत्तराखंड सरकार के लिए परेशानी की सबब!

  • मोदी की रैली बनी उत्तराखंड सरकार के लिए परेशानी की सबब!
You Are HereNational
Saturday, December 07, 2013-4:26 PM

देहरादून: उत्तराखंड में गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रस्तावित रैली में आंतकी हमले को देखते हुये अब इस रैली को लेकर भाजपा के साथ-साथ  उत्तराखंड सरकार भी खासी परेशान है। परेशानी यह है कि सरकार को भी अपने सुरक्षा बलों को सर्तक करने के साथ-साथ मोदी की रैली में आने वाले लोगो के गहन निरीक्षण की व्यवस्था भी करेगी पड़ेगी। रैली की सुरक्षा-व्यवस्था और अन्य तैयारियों के बारे में मुख्य सचिव सुभाष कुमार ने सचिवालय में बैठक की। मुख्य सचिव ने सम्बंधित अधिकारियों को इंतजाम की हिदायत दी। इसकी ड्रिल अभी से शुरु करने के लिए कहा। बैठक में तय किया गया कि रैली से पहले संदिग्ध लोगों का सत्यापन किया जायेगा।

राज्य के बाहर से आने वाले लोगों की चेकिंग की जायेगी। 15 दिसम्बर को प्रस्तावित रैली की चाक चैबंद सुरक्षा व्यवस्था के लिए 11 दिसम्बर से परेड ग्राउंड और उसके आसपास के भवनों को पुलिस के हवाले कर दिया जायेगा। माइन डिटेक्शन टीम और जैमर के लिए मिनिस्ट्री  ऑफ होम अफेयर्स ;एमएचएद्ध को लिखा जायेगा। परेड ग्राउंड में अस्थाई पुलिस चौकी, चारों तरफ  सी.सी.टी.वी. एक्प्लोसिव डिटेक्टर और एक्सरे स्कैनर लगाये जायेंगे। प्रमुख सचिव गृह ओम प्रकाश 9 दिसम्बर को रैली आयोजकों के साथ बैठक करेंगे। बैठक में सचिव गृह मंजुल कुमार जोशी, एडीजी अनिल रतूड़ी, महानिरीक्षक अभिसूचना दीपक ज्योति घिल्डियाल, आईजी कानून व्यवस्था रामसिंह मीना, डीआईजी अमित सिन्हा, एसएसपी केवल खुराना, आईटीबीपी, बीएसफ और आईबी के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You