यूनाइटेड इंडिया को 34 लाख रूपए मुआवजा देने का निर्देश

  • यूनाइटेड इंडिया को 34 लाख रूपए मुआवजा देने का निर्देश
You Are HereNational
Saturday, December 07, 2013-6:59 PM

नई दिल्ली: मोटर दुर्घटना दावा न्यायाधिकरण (एमएसीटी) ने उस व्यक्ति के परिवार को 34 लाख रूपए दिए जाने का निर्देश दिया है जिसे डीटीसी बस ने कुचल दिया था। एमएसीटी ने यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड को हरिचरण राम के परिवार को 34,13,656 रूपए का मुआवजा देने का निर्देश दिया। हरिचरण को 14 अक्तूबर, 2011 को डीटीसी की बस ने टक्कर मार दी थी और उनकी मौत हो गई थी। डीटीसी बस का यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपनी में बीमा था।

न्यायाधिकरण ने चश्मदीद गहवाह जगदीश के बयानों पर भरोसा किया जिसने कहा कि डीटीसी बस के ड्राइवर की लापरवाही के कारण हादसा हुआ और राम की मौत हो गई। इस हादसे में जगदीश भी घायल हो गए थे। एक अस्पताल में गार्ड की नौकरी करने वाले राम हादसे के दिन जहांगीरपुरी अपने घर जा रहे थे, उसी दौरान लालबत्ती पार करती हुई आई बस ने उन्हें एवं जगदीश को टक्कर मार दी। बस के ड्राइवर राजिंदर सिंह ने आरोप का खंडन किया और उल्टे राम पर लापरवाही का दोष मढ़ दिया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You