भारत-पाक संबंधों को सुधारने की दिशा में तेजी से आगे नहीं बढ़ सकते शरीफ :इमरान

  • भारत-पाक संबंधों को सुधारने की दिशा में तेजी से आगे नहीं बढ़ सकते शरीफ :इमरान
You Are HereNational
Saturday, December 07, 2013-7:59 PM

नई दिल्ली: क्रिकेट की दुनिया से राजनीति में आए इमरान खान ने आज कहा कि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ भारत के साथ संबंधों को सुधारने का प्रयास करेंगे लेकिन कट्टरपंथी तत्वों के दबाव के कारण वह इस दिशा में ‘‘तेजी से’’ आगे नहीं बढ़ पाएंगे। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के प्रमुख खान ने एक कार्यक्रम में कहा कि भारत और पाकिस्तान का भविष्य यूरोपीय संघ की तरह होना चाहिए, जिसमें लोग बिना किसी बाधा के आ जा सकें।

उन्होंने उम्मीद जताई कि जब उनकी पार्टी सत्ता में आएगी तो लोग दिल्ली और लाहौर के बीच बिना किसी बाधा के आ जा सकेंगे। इस कार्यक्रम का आयोजन आल इंडिया मैनेजमेंट एसोसिएशन द्वारा किया गया था। उन्होंने कहा, ‘‘आप देखेंगे कि हमारे मौजूदा प्रधानमंत्री प्रयास करने के बाद भी इस छोटे कट्टरपंथी समूह के दबाव के कारण भारत के साथ संबंधों में सुधार की दिशा में तेजी से आगे बढऩे में कामयाब नहीं होंगे।’’

खान ने कहा कि 2014 में अमेरिका के हट जाने के बाद अफगानिस्तान में स्थिरता लाने के लिए भारत और पाकिस्तान को सहयोग करना होगा। उन्होंने कहा कि अगर भारत और पाकिस्तान 2014 के बाद सहयोग करने का फैसला करते हैं और वहां की सरकार के कामकाज में हस्तक्षेप नहीं करने का फैसला करते हैं तो इससे वहां स्थिरता सुनिश्चित होने में मदद मिलेगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You