भाजपा के मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार वसुंधरा राजे 60,000 वोटों से जीतीं

  • भाजपा के मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार वसुंधरा राजे 60,000 वोटों से जीतीं
You Are HereNational
Sunday, December 08, 2013-3:39 PM

जयपुर: राजस्थान में भाजपा की  प्रदेशाध्यक्ष और मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार  वसुंधरा राजे सिंधिया 60,000 वोटों से जीत गई हैं।  राजस्थान में बड़ी जीत की ओर बढ़ रही भाजपा के अच्छे प्रदर्शन के पीछे उन्होंने प्रधानमंत्री पद के भाजपा के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी को एक ‘बड़ा कारक’ बताया। उन्होंने कहा कि यह तो सेमीफाइनल है, फाइनल कुछ महीने में होगा और नरेन्द्र मोदी प्रधानमंत्री बनेंगे।

राजे ने कहा कि जनता राजस्थान सरकार से तंग आ चुकी थी। मैं पार्टी की जीत को कार्यकर्ताओं को समर्पित करती हूं। प्राथमिकताओं के बारे में पूछे जाने पर राजे ने कहा कि यह इस बात पर निर्भर करेगा कि राज्य के लोग क्या चाहते हैं।

गौरतलब है कि राजस्थान में भैरोसिंह शेखावत के निधन और जसवंत सिंह के विवादों में रहने के ‍बाद वसुंधरा राजे राजस्थान में बीजेपी की सशक्त चेहरा बनकर उभरीं। वसुंधरा राजे सिंधिया को राजनीति विरासत में मिली है। वो ग्वालियर राजघराने की पुत्री हैं। उनके पिता का नाम जीवाजीराव सिन्धिया और मां का नाम विजयाराज सिन्धिया है। वो मध्य प्रदेश के कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया की बहन हैं।

किताबे पढ़ने, संगीत, घुड़सवारी, फ़ोटोग्राफ़ी और बागबानी का शौक रखने वाली वसुंधरा की प्रारंभिक शिक्षा प्रेजेंटेशन कॉन्वेंट स्कूल में हुई। इसके बाद उन्होंने सोफिया महाविद्यालय, मुंबई यूनिवर्सिटी से इकॉनॉमिक्स और साइंस ऑनर्स से स्नातक की शिक्षा प्राप्त ग्रहण की।

उनका विवाह धौलपुर के एक जाट राजघराने में हुआ। वसुंधरा राजे तब से ही राजस्थान से जुड़ गई थीं। उनकी कार्यक्षमता, विनम्रता और पार्टी के प्रति वफ़ादारी के चलते 1998-1999 में अटलबिहारी वाजपेयी मंत्रीमंडल में विदेश राज्यमंत्री बनाया गया।  1 दिसंबर, 2003 में वे राजस्थान की पहली महिला मुख्यमंत्री बनीं। 2007 में यूएनओ द्वारा वसुंधरा को महिला के लिए सशक्तीकरण के प्रयासों के लिए 'विमन टूगेदर अवॉर्ड' दिया गया।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You