गन्ना मूल्य बढाने की मांग को लेकर विपक्ष ने किया हंगामा

  • गन्ना मूल्य बढाने की मांग को लेकर विपक्ष ने किया हंगामा
You Are HereNational
Monday, December 09, 2013-3:29 PM

लखनउ: उत्तर प्रदेश विधानसभा में आज भी विपक्षी दलों ने गन्ने की कीमत बढ़ाए जाने की मांग को लेकर हंगामा और नारेबाजी की, जिसके कारण सदन की कार्यवाही एक घंटे से अधिक समय के लिए स्थगित रही और प्रश्नकाल नहीं हो पाया। सदन की बैठक लगते ही भाजपा सदस्य गन्ना मूल्य बढाकर प्रति क्विंटल 350 रुपए किए जाने और 2400 करोड रुपए बकाए का शीघ्र भुगतान कराए जाने की मांग को लेकर सदन के बीच आकर नारेबाजी करने लगे।

हाथों में नारे लिखी तख्तियां लिए भाजपा सदस्यों ने पूर्वी उत्तर प्रदेश के धान किसानो के कथित शोषण के खिलाफ भी नारेबाजी की। सदन के बीच में आकर नारेबाजी करने वालों में राष्ट्रीय लोकदल के सदस्य भी शामिल हो गए, जबकि बसपा के सदस्य अपने स्थानों पर खडे होकर 'चीनी मिल मालिकों की दलाल सरकार, अखिलेश यादव की सपा सरकार ’ जैसे नारे लगाते रहे। बसपाई सदस्य नारे लिखी टोपियां पहने हुए थे, जिसपर लिखा था ’ आत्महत्या करता गन्ना किसान, सपा सरकार बनी अनजान’।

विधानसभा अध्यक्ष माता प्रसाद पाण्डेय ने हंगामा कर रहे सदस्यों से सदन व्यवस्थित करने का आग्रह किया और यह तक कहा कि मुख्यमंत्री गन्ने के बारे में कोई बयान देना चाहते है, मगर सदस्य सदन के बीच ही जमे रह कर नारेबाजी करते रहे और हंगामें के कारण पाण्डेय ने सदन की कार्यवाही आधे घंटे के लिए स्थगित कर दी। स्थगन की यह अवधि आगे भी बढा दी गयी और प्रश्नकाल के दौरान सदन की कार्यवाही स्थगित रही।

भाजपा, रालोद और बसपा के सदस्य जहां एक ओर गन्ना किसानों के मुद्दे पर हंगामा कर रहे थे पीस पार्टी के नेता अयूब खान मुजफ्फरनगर में दंगा पीडितों के शिविरों में कथित रुप से ठंड के कारण लगभग चालीस बच्चों की मौत के लिए सपा सरकार के इस्तीफे की मांग को लेकर एक नारा लिखी तख्ती लिए अपनी जगह पर खडे रहे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You