आईएनएस सिंधुरक्षक के डूबने के बाद पनडुब्बियों के सेवाकाल में विस्तार का प्रस्ताव

  • आईएनएस सिंधुरक्षक के डूबने के बाद पनडुब्बियों के सेवाकाल में विस्तार का प्रस्ताव
You Are HereNational
Monday, December 09, 2013-3:51 PM

नर्इ दिल्ली: सरकार ने आज कहा कि नौसेना की पनडुब्बी आईएनएस सिंधुरक्षक में आग लगने के बाद उसके डूबने की घटना के मद्देनजर छह अन्य पनडुब्बियों के सेवाकाल में विस्तार किए जाने के प्रस्ताव की परख की जा रही है। लोकसभा में आर थामरायसेल्वन और यशवीर सिंह के प्रश्न के लिखित उत्तर में रक्षा मंत्री ए के एंटनी ने कहा कि 1314 अगस्त 2013 की रात को नौसेना की पनडुब्बी आईएनएस सिंधुरक्षक में विस्फोट के बाद आग लगने और इसके डूबने की घटना सामने आई।
   
मंत्री ने कहा कि प्रारंभिक आकलन में यह संकेत प्राप्त हुआ है कि पनडुब्बी के अगले हिस्से में आंतरिक विस्फोट हुआ जहां आयुध रखा जाता है। इसके कारण कुछ और विस्फोट हुए और आईएनएस सिंधुरक्षक में आग लग गई। आग पर काबू पाने के लिए अग्निशम सेवओं को लगाया गया लेकिन पनडुब्बी पानी में डूब गई। इसमे सवार चालक दल को नहीं बचाया जा सका।

एंटनी ने कहा कि इस घटना की जांच के लिए बोर्ड ऑफ एनक्वायरी गठित की गई है।  और आग लगने के कारण की मुख्य वजह का अभी पता नहीं चला है। रक्षा मंत्री ने कहा कि भारत सरकार ने पनडुब्बी निर्माण की योजना को मंजूरी दी है। इसके साथ ही छह पनडुब्बियों के सेवाकाल में विस्तार किये जाने के प्रस्ताव की भी परख की जा रही है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You