सपने बेचती है आप : शीला दीक्षित

  • सपने बेचती है आप : शीला दीक्षित
You Are HereNational
Monday, December 09, 2013-9:48 PM

नई दिल्ली: अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में राजधानी के विधानसभा चुनाव में हैरान कर देने वाला प्रदर्शन करने वाली आप आदमी पार्टी के बारे में दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का कहना है कि वह सपने बेचती है। शीला नहीं जानतीं कि ऐसा क्या था, जिसकी वजह से आप ने करिश्माई प्रदर्शन करते हुए 28 सीटें जीत लीं, कांग्रेस 8 पर सिमट गई और 70 सदस्यीय विधानसभा में भाजपा 31 सीटों के साथ सबसे बड़े दल के रूप में तो उभरी, लेकिन बहुमत के लिए जरूरी 36 सीटों के जादुई आंकड़े से पीछे रह गई।

इस बारे में कुछ पल सोचने के बाद कांग्रेस की अनुभवी नेता कहती हैं, ‘‘मुझे लगता है यह उन सपनों की वजह से हुआ जो उन्होंने दिखाए।’’ उन्होंने 15 वर्ष तक दिल्ली की मुख्यमंत्री के तौर पर देश की राजधानी पर राज किया है। उनका कहना था, ‘‘आप सपने नहीं बना सकते, आप सपने नहीं बेच सकते, लेकिन उन्होंने ऐसा किया।’’ यह पूछे जाने पर कि क्या आप का सुरूर रहेगा, उन्होंने कहा, ‘‘एक बार ऐसा हो सकता है, लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि ऐसा हमेशा चलेगा। सपनों की भी तो परख होगी।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You