किरन बेदी का सुझव आप ने नकारा

  • किरन बेदी का सुझव आप ने नकारा
You Are HereNational
Tuesday, December 10, 2013-1:01 AM

नई दिल्ली: चुनाव के नतीजे आने के अगले दिन पूर्व आईपीएस किरन बेदी का सुझाव आया कि आप और भाजपा को आपस में बात करनी चाहिए। अन्ना आंदोलन के समय केजरीवाल की टीम का हिस्सा रहीं बेदी ने कहा कि न्यूनतम साझा कार्यक्रम बनाकर दोनों को एक साथ सरकार चलानी चाहिए।

आम आदमी पार्टी ने पता चलते ही इस सुझााव को यह कहकर नकार दिया कि उसकी राजनीति की बुनियाद ही कांग्रेस और भाजपा की नीतियों के विरोध पर खड़ी है। लगभग 2 साल पहले अन्ना के रामलीला मैदान में अनशन के दौरान व्यवस्था से जुड़ी कई चीजें संघ ने संभाल रखी थी।

हालांकि यह आंदोलन लोकपाल बिल की मांग के लिए था, इसलिए इसे अपार समर्थन तो मिला लेकिन अरविंद केजरीवाल और उनकी टीम ने यह समझ लिया था कि अन्ना को (और बाद में किरन बेदी को भी)भाजपा से परहेज नहीं है।

अगर इस आंदोलन को भाजपा ने हड़प लिया तो व्यवस्था परिवर्तन की असली लड़ाई अधूरी रह जाएगी। यही सोचकर अन्ना के लाख मना करने के बावजूद अरविंद ने आम आदमी पार्टी बनाई और हर मंच से भाजपा का भी उतना ही विरोध किया जितना कांग्रेस का।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You