'आप' भाजपा को मुद्दों पर आधारित समर्थन दे सकती है: प्रशांत भूषण

  • 'आप' भाजपा को मुद्दों पर आधारित समर्थन दे सकती है: प्रशांत भूषण
You Are HereNational
Tuesday, December 10, 2013-11:15 AM

नई दिल्ली: दिल्ली में किसकी सरकार बनेगी, इस पर अभी भी मंथन जारी है। विधानसभा चुनाव में किसी भी पार्टी को सरकार बनाने के लिए जरूरी 36 सीटें नहीं मिल सकी हैं। प्रदेश की दो बड़ी पार्टियां भाजपा और आम आदमी पार्टी में से अभी तक किसी ने भी सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया। दोनों ही दलों ने पर्याप्त बहुमत न होने के कारण विपक्ष में रहने की बात कही है। कांग्रेस के पास इतनी सीटें नहीं है कि वह सरकार बनाने के लिए सोच भी सके।

इस बीच आप ने कहा है कि वे भाजपा को प्रदेश में सरकार बनाने के लिए सशर्त समर्थन दे सकते हैं। एक निजी न्यूज चैनल में बातचीत के दौरान आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता प्रशांत भूषण ने कहा है कि उनकी राय में आम आदमी पार्टी भाजपा को मुद्दों पर आधारित समर्थन दे सकती है। पार्टी के मुताबिक वह कांग्रेस या बीजेपी से समर्थन नहीं ले सकती, क्योंकि इन दोनों पार्टियों का विरोध ही उसकी जीत का आधार है। हालांकि आम आदमी पार्टी का यह भी कहना है कि अगर दिल्ली में दोबारा चुनाव कराने की नौबत आती है, तो वह इसके लिए पूरी तरह तैयार है।

इस बीच दिल्ली में सरकार बनाने से कतरा रही भाजपा और आम आदमी पार्टी (आप) के बीच आरोप−प्रत्यारोप का सिलसिला भी शुरू हो गया है। भाजपा के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा है कि आम आदमी पार्टी सरकार बनाने से डर रही है, क्योंकि उसे पता है कि उसके द्वारा किए गए वादे लागू करने लायक नहीं हैं। जेटली की इस प्रतिक्रिया पर 'आप' के नेता अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वह अपनी पार्टी के अनुभव के हिसाब से बोल रहे हैं, आम आदमी पार्टी उनकी पार्टी की तरह जोड़-तोड़ नहीं करती।

उधर, भारतीय जनता पार्टी ने 15 साल बाद दिल्ली में सरकार बनाने की उम्मीद के साथ आज बैठक बुलाई है। हालात के मुताबिक दिल्ली राष्ट्रपति शासन की ओर बढ़ती हुई दिखाई दे रही है, क्योंकि भाजपा या आम आदमी पार्टी में से किसी ने भी अब तक सरकार बनाने का दावा पेश नहीं किया है। अब सबकी नजर उपराज्यपाल पर टिकी हुई है। सरकार न बनने की स्थिति में छह महीने के अंदर दोबारा चुनाव कराने होंगे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You