मुजफ्फरनगर में दंगे की वजह बनी फर्जी नामजदगी

  • मुजफ्फरनगर में दंगे की वजह बनी फर्जी नामजदगी
You Are HereNational
Tuesday, December 10, 2013-12:01 PM

मुजफ्फरनगर, (राकेश त्यागी): यहां सांप्रदायिक हिंसा की वजह फर्जी नामजदगी बनी हुई है। तीन माह पहले हुए कवाल कांड में फर्जी नामजदगी हटाने को हुई पंचायत के बाद यू.पी. में दंगा भडक़ा। फर्जी नामजदगियों को रोकने की बजाय फिर से फर्जी नामजदगी दर्ज कराई गई। अब, इसका खुलासा दंगों से निपटने के लिए बने विशेष जांच दल (एस.आई.सी) ने किया। एस.आई.सी. सूत्रों के मुताबिक दर्ज हुई कुल नामजदगियों में से एक तिहाई फर्जी नामजदगियों को अब तक हटाया जा चुका है।

6,405 एफ.आई.आर दर्ज हुई लेकिन इस समय एस.आई.सी सिर्फ 573 मुकदमों की जांच कर रहा है। अभी तक हुई विवेचना के दौरान इनमें से 216 केस फर्जी पाए गए। दंगों संबंधी मुकदमों की हो रही सुनवाई के दौरान अढ़ाई दर्जन मामलों में तो खुद ही पीडि़तों ने अफसरों के समक्ष यह बात कबूल की है। पीडि़तों का कहना है कि सांप्रदायिकता के कारण दूसरे समुदाय के लोगों को बदले की आग में फंसाया है।

Edited by:Rakesh Tyagi

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You