भाजपा का सपना सिर्फ 2 हजार वोटरों ने तोड़ा

  • भाजपा का सपना सिर्फ 2 हजार वोटरों ने तोड़ा
You Are HereNational
Tuesday, December 10, 2013-12:37 PM

नई दिल्ली: भाजपा का 4 राज्यों में पूर्ण बहुमत प्राप्त करने का सपना दिल्ली के 2333 वोटरों ने तोड़ दिया। इन वोटरों ने अगर भाजपा के पक्ष में मतदान किया होता तो तो दिल्ली में भाजपा को बहुमत मिल जाता और उनका 4-0 का सपना साकार हो जाता।

दिल्ली में 4 सीटें ऐसी हैं जहां भाजपा के प्रत्याशियों की हार का अंतर एक हजार वोटों से भी कम रहा है। इन वोटों को अगर जोड़ कर देखें तो कुल 2333 वोट बैठते हैं। दिल्ली की सदर बाजार, संगम विहार, विकास पुरी और दिल्ली कैंट ऐसी सीटें हैं जहां से भाजपा प्रत्याशी बेहद कम अंतर से हारे हैं।

हैरान करने वाली बात यह है कि इन सभी सीटों पर आम आदमी पार्टी ने भाजपा प्रत्याशियों की जीत का सपना चकना चूर किया है। दिल्ली कैंट से भाजपा के दिग्गज प्रत्याशी करण सिंह तंवर आम आदमी पार्टी के सुरेंद्र सिंह से महज 355 वोटों से हारे हैं।

सदर बाजार से आम आदमी पार्टी के सोमदत्त ने भाजपा के जय प्रकाश को 796 वोटों से पराजित किया है। संगम विहार से भाजपा के वरिष्ठ विधायक डॉ.एस.सी.एल. गुप्ता कोआम आदमी पार्टी के दिनेश मोहनिया ने 777 वोटों से हराया है। विकासपुरी से भाजपा प्रत्याशी किशन गहलोत को आम आदमी पार्टी के महेंद्र यादव ने 405 वोटों से हराया है।

इन सभी सीटों पर भाजपा की हार का अंतर अगर जोड़ें तो महज 2333 वोट निकलता है, यानि ये 2333 वोटर अगर भाजपा का साथ दे देते तो शायद दिल्ली विधानसभा की शक्ल कुछ और ही होती। सरकार बनाने के लिए जो उठापठक फिलहाल हो रही है, उसका सामना न तो दिल्ली की जनता को करना पड़ता और न ही राजनीतिक दलों को।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You