स्मृति ईरानी ने की न्यायमूर्ति गांगुली के त्यागपत्र की वकालत

  • स्मृति ईरानी ने की न्यायमूर्ति गांगुली के त्यागपत्र की वकालत
You Are HereNational
Tuesday, December 10, 2013-12:46 PM

कोलकाता: कानून की छात्रा से कथित यौन उत्पीडऩ मामले में पश्चिम बंगाल मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति अशोक गांगुली के त्यागपत्र की मांग करने वाले लोगों में भाजपा सांसद स्मृति ईरानी भी आज शामिल हो गईं और उन्होंने कहा कि यह दिखाने का समय आ गया है कि न्यायिक व्यवस्था का प्रतिनिधित्व करने वाले लोग कानून से उपर नहीं हैं।
 
ईरानी ने यहां एक कार्यक्रम के इतर कहा, ‘‘जब ऐसा कोई व्यक्ति कानून तोड़ता है जो न्यायिक प्रणाली में काम कर चुका हो और फिर मानवाधिकारों का प्रतिनिधित्व करता हो तो मेरा मानना है कि यह अत्यंत महत्वपूर्ण है कि बाकी देश के लिए एक उदाहरण स्थापित किया जाए, जो यह है कि व्यक्ति के साथ कानून के तहत अन्य लोगों जैसा ही व्यवहार होना चाहिए।’

’भाजपा उपाध्यक्ष ईरानी ने कहा, ‘‘यह तथ्य कि वह एक आयोग का नेतृत्व कर रहे हैं जो कि मानवाधिकार उल्लंघनों के मामले में न्याय देता है तो मेरा मानना है कि विरोधाभास इतना कड़ा है कि उन्हें पद छोड़ देना चाहिए। मैं नहीं मानती कि लोग यह मानेंगे कि ऐसी स्थिति में न्याय दिया जा सकेगा।’’पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को दो बार पत्र लिखकर न्यायमूर्ति गांगुली के खिलाफ उचित कार्रवाई करने के लिए कह चुकी हैं।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You