स्तनपान पर कम जागरूकता गरीबों तक सीमित नहीं: मोंटेक

  • स्तनपान पर कम जागरूकता गरीबों तक सीमित नहीं: मोंटेक
You Are HereNational
Wednesday, December 11, 2013-9:44 AM

नई दिल्ली: योजना आयोग के उपाध्यक्ष मोंटेक सिंह आहलूवालिया ने कहा कि स्तनपान के बारे में जागरूकता की कमी सिर्फ गरीबों और समाज के वंचित तबके तक सीमित नहीं है। उन्होंने यहां स्तनपान पर एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए सुझाव दिया कि देश की शीर्ष 22 प्रतिशत आबादी, खासतौर पर ऐसे परिवार जिनके पास कारें हैं उनमें इस मुद्दे पर जागरूकता पैदा करने का लक्ष्य रखा जाना चाहिए। आहलूवालिया ने कहा कि यह जरूरी नहीं है कि जो लोग समृद्ध हैं उनके पास इस बारे में अच्छी जानकारी है।

 

उन्होंने दावा किया कि सभी समृद्ध राज्य इससे अवगत नहीं हैं और यहां तक कि देश के इस हिस्से में महिलाएं स्तनपान नहीं कराती हैं। उन्होंने एक अध्ययन ‘शिशु में निवेश की जरूरत’ भी पेश किया। यूनीसेफ की 2013 की रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया भर में हर साल जन्म लेने वाले 13.5 करोड़ बच्चों में 8.3 करोड़ को उचित मात्रा में स्तनपान नहीं कराया जाता। बच्चों के जन्म के प्रथम घंटे में सिर्फ 42 प्रतिशत माताएं ही स्तनपान कराती हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You