टॉर्च ने बिगाड़ा झाड़ू का खेल, नही तो केजरीवाल होते दिल्ली के CM

  • टॉर्च ने बिगाड़ा झाड़ू का खेल, नही तो केजरीवाल होते दिल्ली के CM
You Are HereNational
Wednesday, December 11, 2013-10:38 AM

नई दिल्ली: दिल्ली विधानसभा चुनाव में भाजपा और आप पार्टी को लोगो का भारी समर्थन मिला है। आप पार्टी के धमाकेदार प्रदर्शन ने सभी को हैरत में डाल दिया है। परंतु बावजूद इसके न तो भाजपा और न ही आप उस जादुई आंकड़े तक पहुंच पाए, जो सरकार बनाने में उनके लिए मददगार साबित हो सकता। आप पार्टी की बात करें तो माना जा रहा है कि  इतने बढिय़ा प्रदर्शन के बावजूद आप पार्टी कुछ जगहो पर चूक गई।

विश्लेषकों का मानना है कि कुछ निर्दलीय उम्मीदवारों के चुनाव चिन्ह आपस में मेल खा रहे थे। टॉर्च का निशान देखने में झाड़ू जैसा था, जिससे लोगो ने आप को वोट देने की बजाय दूसरी पार्टी को वोट दे दी। इसके अलावा अं‌तिम पलों में हुई वोटिंग भी इसका एक कारण है। यह भी माना जा रहा हैं कि चुनावो में आप पार्टी मुस्लिमों का विश्वास जीतने में नाकाम रही, जिसके कारण आप और दिल्ली की कुर्सी के बीच में कुछ फासला रह गया। विश्लेषकों का मानना है कि जनकपुरी और कालकाजी में भाजपा से हारने वाली आप का कहना है कि दोनों के बीच का अंतर निर्दलीय उम्मीदवारों को मिले वोट से भी कम था, जो टॉर्च के निशान पर चुनाव लड़ रहे थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You