‘आप’ और भाजपा हठधर्मिता छोड़ बनाए सरकार: सुखबीर सरन

  • ‘आप’ और भाजपा हठधर्मिता छोड़ बनाए सरकार: सुखबीर सरन
You Are HereNational
Wednesday, December 11, 2013-8:53 PM

नई दिल्ली : दिल्ली में सरकार कौन बनाए और कैसे, इस सम्बंध में राजधानी में बुधवार को गोष्ठी का आयोजन किया गया। गोष्ठी में आप और भाजपा को मिलकर गठबंधन सरकार बनाने की मांग की गई।

गोष्ठी में कई आरडब्ल्यूए संगठनों ने भी अपने विचार व्यक्त किए। उनका कहना था कि गठबंधन सरकार के बनने से सौ करोड़ रुपए से अधिक की धन की बर्बादी से बचाया जा सकेगा। गोष्ठी का आयोजन दिल्ली प्रदेश जनता संघर्ष समिति ने किया, जिसकी अध्यक्षता समिति के प्रमुख सुखबीर सरन अग्रवाल ने की।

उन्होने कहा कि यदि दोबारा चुनाव होने पर भी किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला और फिर से त्रिशंकु विधानसभा गठित हुई, तो फिर क्या होगा? क्या उसके बाद फिर तीसरी बार चुनाव कराया जाएगा? दिल्ली की जनता ने भारतीय जनता पार्टी और आम आदमी पार्टी को जनादेश दिया है।

बार-बार चुनाव होने से टैक्स लगेंगे, महंगाई और बढ़ेगी और आम आदमी की जेब खाली होगी। इसलिए दोनों ही पार्टी के नेताओं को जनता की भावनाओं का सम्मान करते हुए और अपनी हठधर्मिता को त्याग दे और सरकार बना ले। गोष्ठी में विभिन्न आरडब्ल्यूए संगठनों के पदाधिकारियों चमनलाल मारवाह, देवराज बावेजा, प्रवीण कसेरा, रमेश बजाज, हरीश असडी, जटाशंकर गुप्ता तथा श्रीकांत मिश्रा मौजूद थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You